breaking news New

मुख्यमंत्री के किसान सम्मेलन में महिलाओं का जेवर ले उड़े चोर

मुख्यमंत्री के किसान सम्मेलन में महिलाओं का जेवर ले उड़े चोर

चोरी से ग्रामीण महिलाओं में भारी आक्रोश

जांजगीर चांपा, 6 जनवरी। जिले में कल 5 जनवरी को प्रदेश के मुखिया माननीय भूपेश बघेल जी का आगमन हुआ था इस आगमन को लेकर जहां प्रशासनिक अमला को जितना सतर्कता बरतनी चाहिए थी इतनी सुरक्षा व्यवस्था नहीं होने के कारणों से मुख्यमंत्री के किसान सम्मेलन में आम जनता से कहीं ज्यादा चोर उचक्के घुसाए कहना गलत नहीं होगा जहां एक ओर मुख्यमंत्री के संबोधन स्थल में अपार लोगों की भीड़ भाड़ रही वहीं इस भीड़ भाड़ में कुछ चोरों ने अपनी हुनर दिखाने से बाज नहीं आए और एक के बाद एक 4 महिलाओं के गले से सोने के जेवरो पर हाथ साफ कर दिए जाने से सभा स्थल चोरों के ठिकाने के रूप में तब्दील हो गया बताया जाता है कि मुख्यमंत्री के सभा को संबोधित करने के दौरान कलाबाई केरा निवासी तो वही खुटिया निवासी दिनेश्वरी एवं शशि कला पटेल के गले से कीमती सोने जेवरो पर चोरों ने हाथ साफ कर दिया, जिसके चलते इन महिलाओं के बीच में चोरी कि घटनाओं पर भयभीत होकर महिला पुलिस कर्मी को घटना के बारे में जानकारी दी गई पर बताया जाता है कि उक्त महिला पुलिस कर्मी द्वारा लापरवाही करते हुए कार्यवाही करने के बजाय आनन-फानन में तथाकथित चोर को वहां से भगा दिया गया ताकि वहां अशांति का माहौल निर्मित ना हो सारा वाकया को सुनकर तो ऐसा ही अंदाजा लगाया जा रहा है जहां मुख्यमंत्री के संबोधन स्थल में चारों तरफ जबरदस्त सुरक्षा व्यवस्था होनी चाहिए थी लेकिन इस  सभा स्थल पर एक के बाद एक चार महिलाओं का गले से सोने का हार चोरी होने से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि सुरक्षा व्यवस्था को प्रशासन के द्वारा किस तरह से बनाया गया था यदि मुख्यमंत्री के सभा स्थल पर चोर तथा असामाजिक तत्व घुस आए तो पुलिस प्रशासन पर सवालों की झड़ी लगना साधारण की बात है।

ड्यूटी रत महिला पुलिसकर्मी पर लगा गंभीर आरोप

शशि कला पटेल दिलेश्वरी ग्राम खुटिया एवं कलाबाई केरा निवासी ग्रामीण महिलाओं ने वहां ड्यूटी कर रही महिला पुलिसकर्मी पर गंभीर आरोप लगाते हुए आक्रोश व्यक्त किया गया कि एक के बाद एक अनेक महिलाओं के गले से सोने का हार चोरी होने के बाद उन्होंने कथित चोर को पकड़ लिया था जिसकी जानकारी महिला पुलिसकर्मी को दिया गया और उक्त पुलिसकर्मी द्वारा चोर पर कार्यवाही करने के बजाय उसे वहां से चलता कर दिया गया यदि इस महिला पुलिसकर्मी द्वारा समय पर समुचित कार्यवाही किया जाता तो जहां मुख्यमंत्री के सभा स्थल पर घुस आए चोर को पकड़ा जा सकता था। साथ ही चोरी गए बेशकीमती 4 महिलाओं के हार को भी बरामद किया जा सकता था, लेकिन पुलिस महिला कर्मी द्वारा जो लापरवाही बरती गई हैं वह किसी भी दृष्टि से नजरअंदाज करने लायक नहीं है ऐसे महिला पुलिसकर्मी पर गंभीरतापूर्वक कार्यवाही किया जाना पुलिस प्रशासन को सुनिश्चित करना चाहिए।