breaking news New

लगातार बढ़ रहे कोरोना से घबराने की ज़रूरत नहीं: शिवराज

लगातार बढ़ रहे कोरोना से घबराने की ज़रूरत नहीं: शिवराज

भोपाल।  मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कोरोना के प्रकरण लगातार बढ़ रहे हैं, परंतु इससे घबराने की ज़रूरत नहीं है। सभी जिलों में निःशुल्क टेस्टिंग, इलाज एवं बेड्स की पर्याप्त उपलब्धता है।
श्री चौहान आज यहां मंत्रालय में कोरोना की स्थिति एवं व्यवस्थाओं की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, डीजीपी विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान, अपर मुख्य सचिव राजेश राजौरा आदि उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि शासकीय अस्पतालों, अनुबंधित निजी अस्पतालों एवं आयुष्मान योजना के अंतर्गत, चिन्हित अस्पतालों में कोरोना का निशुल्क इलाज़ किया जा रहा है। निजी अस्पतालों के लिए भी फीस की सीमा निर्धारित की गई है, इससे अधिक फीस में नहीं ले सकेंगे।
श्री चौहान ने कहा कि वैक्सीनेशन कोरोना से बचने का प्रभावी तरीका है। अभी 60 वर्ष से अधिक उम्र वालों को एवं 45 से अधिक उम्र वालों को, जिन्हें कोमोरबिडिटी हो, टीका लगाया जा रहा है तथा आगामी 1 अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी व्यक्तियों को भी टीके लगाए जाएंगे। निर्धारित कार्यक्रम अनुसार कोरोना का वैक्सीन अवश्य लगवाएं। अभी तक प्रदेश में 31 लाख व्यक्तियों को कोरोना का वैक्सीन लगाया जा चुका है।
प्रदेश के अस्पतालों में कोरोना के इलाज़ के लिए 5961 सामान्य एवं 8184 ऑक्सिजन बेड्स उपलब्ध हैं। अभी 18 प्रतिशत (1092) सामान्य बेड्स एवं 29 प्रतिशत (2369) ऑक्सिजन बेड्स भरे हैं, 82 प्रतिशत सामान्य बेड तथा 71 प्रतिशत ऑक्सीजन बेड खाली हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए यह आवश्यक है कि होली आदि उत्सव सभी लोग अपने परिवार के साथ घर पर ही मनाएं। बिना भीड़ किए परंपराएं एवं रस्में निभाएं, परंतु इसके लिए स्थानीय प्रशासन से आवश्यक स्वीकृति प्राप्त कर लें। बैठक में कोरोना की ज़िलेवार समीक्षा में बताया गया कि मास्क नहीं पहनने तथा सामाजिक दूरी का पालन न करने पर जुर्माना एवं ओपन जेल की कार्रवाई की जा रही है।
प्रदेश में कोरोना के कुल 12995 एक्टिव केस हैं। देश में कोरोना संक्रमण में प्रदेश 6 वें स्थान पर है। प्रदेश की पॉजिटिविटी रेट 6.6 है। प्रदेश के 15 ज़िलों में 20 से अधिक नए प्रकरण आए हैं। इंदौर में 619, भोपाल में 460, जबलपुर में 159, उज्जैन में 85, रतलाम में 76, ग्वालियर में 67, विदिशा में 58, बैतूल में 56, खरगोन में 39, छिंदवाड़ा में 36, सागर में 32, नरसिंहपुर में 26, देवास में 25, शहडोल में 25 तथा बुरहानपुर में 22 नए प्रकरण आए हैं। छिंदवाड़ा में चिकित्सा विशेषज्ञों का दल भेजे जाने के निर्देश दिए गए हैं।
सीएम  चौहान ने निर्देश दिए कि सभी जिलों में कमांड एन्ड कंट्रोल सेन्टर निरंतर कार्य करें तथा होम आइसोलेशन में रह रहे मरीजों की मॉनिटरिंग करें। आवश्यकता होने पर तुरंत मरीजों को अस्पताल में शिफ़्ट किया जाए।