breaking news New

Breaking खुर्शीद की नई किताब 'सनराइज ओवर' में भारत की आस्था को ठेस, हिंदुत्व का अपमान, कुख्यात आतंकी संगठनों से हिन्दुत्व की तुलना

Breaking खुर्शीद की नई किताब 'सनराइज ओवर' में भारत की आस्था को ठेस, हिंदुत्व का अपमान, कुख्यात आतंकी संगठनों से हिन्दुत्व की तुलना

भाजपा ने खुर्शीद की नई किताब में हिंदुत्व की तुलना आतंकवादी संगठन से करने पर आलोचना की

नयी दिल्ली।  भारतीय जनता पार्टी ( भाजपा ) ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सलमान खुर्शीद की नई किताब 'सनराइज ओवर अयोध्या' में हिंदुत्व की तुलना आतंकवादी संगठन आईएसआईएस और बोको हरम से करने की आलोचना करते हुए कहा है कि यह हिंदुत्व का अपमान है और इससे भारत की आस्था को ठेस पहुंचती हैं।

भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने गुरुवार को यहाँ एक संवाददाता सम्मेलन में कांग्रेस पर हिंदुओं की भावनाओं का अपमान करने का आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस ने आजादी के बाद से ही हमेशा हिंदू मुस्लिम की राजनीति की है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस सांसद राहुल गांधी के इशारे पर हिंदुओं का अपमान किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस बहुसंख्यकों की भावनाओं को कुचलने का काम कर रही है। हिंदू समाज बेहद संवेदनशील और सहिष्णु है लेकिन किसी राजनीतिक दल को यह हक नहीं है कि वह हिंदू समाज की भावनाओं को आहत करें।

 भाटिया ने कहा कि यदि कांग्रेस  खुर्शीद के विचारों का समर्थन नहीं करती है तो पार्टी के शीर्ष नेतृत्व को बाहर आकर अपनी चुप्पी तोड़नी होगी।

उन्होंने कहा, “श्रीमती गांधी  खुर्शीद की किताब पर अपना वक्तव्य दें। इससे पहले भी हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने के लिए कांग्रेस नेताओं ने यहां तक कह दिया था कि प्रभु राम काल्पनिक हैं। कांग्रेस सांसद शशि थरूर को 'हिंदू तालिबान' कहने की खुली छूट दी जाती है। कांग्रेस नेतृत्व चुप्पी तोड़ कर कहें कि ये नेता जो कहते हैं वह पार्टी की विचारधारा नहीं है। इससे एक संदेश जाएगा कि आप हिंदुओं के दुश्मन नहीं हैं।”

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि कांग्रेस पार्टी एक मकड़ी की तरह हिंदुओं के खिलाफ नफरत का जाल बुन रही है। उन्होंने कहा कि श्री खुर्शीद नेताओं को पार्टी से निकाला जाए।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को  खुर्शीद की किताब का विमोचन हुआ था। बतौर वकील 354 पृष्ठों की इस पुस्तक में उन्होंने उच्चतम न्यायालय के 'अयोध्या फैसले' का विश्लेषण किया है।  खुर्शीद ने किताब में हिंदुत्व की तुलना आतंकी संगठनों से की है जिसके बाद विवाद पैदा हो गया है।