breaking news New

निर्वाचन आयोग ने की यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारी की समीक्षा, एक्सपेन्डीचर मॉनीटरिंग प्लान पर कार्य करने के दिए निर्देश

निर्वाचन आयोग ने की यूपी विधानसभा चुनाव की तैयारी की समीक्षा, एक्सपेन्डीचर मॉनीटरिंग प्लान पर कार्य करने के दिए निर्देश

 लखनऊ।  उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिये निर्वाचन आयोग ने तैयारी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में उप निर्वाचन आयुक्त डा चन्द्र भूषण ने बुधवार को यहां प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय में चुनाव संबंधी कार्यो की समीक्षा की।

डा कुमार ने चुनाव सम्बंधी तैयारियों को लेकर प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला को आवश्यक निर्देश दिये और कहा कि चुनाव को निष्पक्ष, स्वतंत्र एवं पारदर्शी ढंग से कराने के लिए अभी से पूरी तैयारी कर ली जाय। उन्होंने प्रदेश में मतदाता सूची के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण-2022 की प्रगति की समीक्षा करते हुए इसकी प्रभावी मॉनीटरिंग करने को कहा।

उन्होंने निर्देशित किया कि प्रदेश के 18-19 आयुवर्ग के युवा मतदाताओं की संख्या को बढ़ाने पर ज्यादा ध्यान दिया जाय। साथ ही प्रदेश के लिंग अनुपात को सुधारने के लिए महिला मतदाताओं को जागरूक कर इनकी भागीदारी बढ़ायी जाय।

उन्होंने जेंडर गैप का जिलेवार एवं बूथवार विश्लेषण करके प्रभावी रणनीति बनाकर कार्य करने पर बल दिया। उन्होंने मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए अधिक से अधिक कैम्पस एम्बेसडर तथा सोशल एक्टिविटी को बढ़ाने पर जोर दिया।

दिव्यांग मतदाताओं एवं बुजुर्ग मतदाताओं को मतदान के लिए जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए सुगम्य निर्वाचन की आयोग द्वारा सुनिश्चित की गयी व्यवस्था को प्रभावी ढंग से लागू कराने पर बल दिया।

उप निर्वाचन आयुक्त ने कहा कि सभी मतदान केन्द्रों पर आवश्यक मूलभूत सुविधाएं सुनिश्चित की जायें। उन्होंने मतदान केन्द्रों पर वेबकास्टिंग की व्यवस्था को 50 प्रतिशत से भी अधिक करने के लिए तैयारियों के लिए जरूरी व्यवस्था करने को कहा। इसके लिए बीएलओं के द्वारा गरूड़ ऐप के माध्यम से समयबद्ध ढंग से जरूरी डाटा संकलित करने पर जोर दिया और कहा कि स्वतंत्र चुनाव के लिए सभी जरूरी डाटाबेस शीघ्र तैयार कर लिया जाय।

मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि अब मतदाता पहचान पत्र स्पीड पोस्ट के माध्यम से ही भेजे जा रहे हैं। उन्होंने चुनाव में धन बल के प्रयोग को नियंत्रित करने के लिए व्यय निगरानी व्यवस्था को मजबूत करने के लिए सभी नोडल विभागों को जरूरी एक्सपेन्डीचर मॉनीटरिंग प्लान पर कार्य करने के निर्देश दिये।