breaking news New

पकड़ी गई 3 करोड़ 15 लाख की बिजली चोरी

पकड़ी गई 3 करोड़ 15 लाख की बिजली चोरी

जयपुर। बिजली छीजत कम करने एवं बिजली चोरी पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए जयपुर डिस्कॉम के सतर्कता जांच दलों ने दो दिन में तीन करोड़ 15 लाख की बिजली चोरी पकड़ी है।

जयपुर डिस्कॉम में प्रबन्ध निदेशक नवीन अरोडा के निर्देशन में दो दिन का विशेष सतर्कता जांच अभियान चलाया गया। इस अभियान में  जयपुर डिस्कॉम के विजिलेन्स एवं ओएण्डएम विंग के अधिकारियों द्वारा संयुक्त रुप से लक्षित स्थानों पर विजिलेन्स चौकिंग की कार्यवाही की गई।

अरोड़ा ने बताया कि डिस्कॉम क्षेत्र में बिजली चोरी की प्रभावी रोकथाम एवं विद्युत छीजत को न्यूनतम स्तर पर लाने के उद्देश्य से उच्चतम छीजत वाले क्षेत्रों को चिन्हित कर 13 एवं 14 नवम्बर, 2021 को दो दिन का विशेष सतर्कता जांच अभियान चलाया गया। उन्होंने बताया कि दो दिन में 1469 स्थानों पर की गई जांच में 1387 स्थानों पर बिजली चोरी एवं 82 स्थानों पर बिजली दुरुपयोग के मामले पकड़े गए है।

पकड़े गए सभी मामलों में तीन करोड़ 15 लाख पांच हजार रुपए के राजस्व का निर्धारण किया गया है। जुर्माना राशि जमा करवाने के लिए संबंधितों को नोटिस जारी किये गए है।

अरोड़ा ने बताया कि बिजली चोरी पकड़ने के लिए डिस्कॉम क्षेत्र मंे चलाए गए दो दिन के विशेष अभियान के तहत जयपुर नगर वृत में बिजली चोरी के 177 एवं बिजली दुरुपयोग के 68 पकड़े गए मामलों में 38 लाख चार हजार रुपए के राजस्व का निर्धारण किया गया है।

इसी तरह जयपुर जिला वृत में बिजली चोरी के 283 एवं दुरुपयोग के एक मामले में 78.05 लाख, अलवर वृत में बिजली चोरी 67 एवं दुरुपयोग के तीन मामलों में 24.12 लाख, दौसा वृत में बिजली चोरी के 100 एवं दुरुपयोग के एक मामले में 18.56 लाख, टोंक वृत में बिजली चोरी के 126 एवं दुरुपयोग के तीन मामलों में 25.52 लाख, भरतपुर वृत में बिजली चोरी के 180 मामलों में 43.02 लाख, धौलपुर वृत में बिजली चोरी के 63 मामलों में 12.63 लाख, सवाईमाधोपुर वृत में बिजली चोरी के 105 मामलों में 20.04 लाख, बूंदी वृत में बिजली चोरी के 123 व बिजली दुरुपयोग के छह मामलों में 24.05 लाख तथा झालावाड़ वृत में बिजली चोरी के 163 मामलों में 30.28 लाख रुपए के राजस्व का निर्धारण किया गया है।