breaking news New

जिलाधीश मौर्य के आदेश से जैन समाज में आक्रोश : महावीर जंयती के दिन जिले में खुली रही मांस मटन की दुकाने

जिलाधीश मौर्य के आदेश से जैन समाज में आक्रोश : महावीर जंयती के दिन जिले में खुली रही मांस मटन की दुकाने

धमतरी 27 अप्रेल। पुरी दुनिया को जियो और जीने दो, अहिंसा के अवतार जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी के जन्म कल्याणक महोत्सव 25 तारीख को भारत ही नही पुरी दुनिया में धूमधाम से मनाया गया।

कोविड 19 के चलते जैन समाज के अनुयायी घर पर ही हर्षोल्लास के साथ इस पावन दिन को मनाया। भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव के दिन को छत्तीसगढ शासन द्वारा शुष्क दिवस घोषित किया जाता रहा है इस दिन प्रदेश के समस्त मांस मदिरा, मटन की सभी दुकाने बंद रहती है। कलेक्टर श्री मौर्य ने कोविड-19 के बढते संक्रमण को देखते हुए 11 अप्रैल की रात से 26 अप्रैल तक लॉक डाउन लगाया गया था जिसे बाद में बढाकर 5 मई तक कर दिया गया है।

जिले में जारी  लाक डाउन को देखते हुए समाज के लोगो ने अपने अपने घरो में ही हर्षोल्लास के साथ इस दिन को मनाया। उल्लेखनीय रहे कि जिलाधीश श्री मौर्य ने 24 तारीख को एक आदेश निकाला जिसमें सुबह 8 से 10 बजे तक मांस मटन और मछली की दुकान खोलने का आदेश जारी किया गया जबकि 25 तारीख को पूरी दुनिया को जीयो और जीनो दो, अंहिसा के अवतार भगवान महावीर के जन्म कल्याणक महोत्सव था बावजूद इस दिन जिले में सुबह 8 से 10 बजे तक मांस, मटन की दुकान खोले जाने का आदेश जारी किया गया था।

जिससे पूरे जैन समाज में जिला प्रशासन को लेकर जर्बदस्त आक्रोष व्याप्त है। सकल जैन समाज के अध्यक्ष विजय गोलछा ने जिला प्रशासन के इस आदेश की कडी निंदा करते हुए कहा कि यह जैन समाज के भवनाओं के साथ जान बुझकर खिलवाड किया गया है। उन्होने यह भी कहा कि जिले के जिलाधीश श्री मौर्य की महामहिम राष्ट्रपति, राज्यपाल,प्रधानमंत्री सहित प्रदेश के मुख्यमंत्री से शिकायत भी की जायेगी।   

    गौरतलब रहे कि पुरे छत्तीसगढ में जैन धर्म के 24वें तीर्थकर भगवान महावीर के जन्म कल्याणक महोत्सव के दिन मांस मटन की दुकाने पुरे प्रदेश में बंद रही लेकिन धमतरी जिले में इन दुकानो को खोलने का आदेश जारी किया गया।  समाज के लोगो का कहना है कि जिलाधीश को ये मालूम था कि 25 अप्रेल को जैन समाज के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर स्वामी का जन्म कल्याणक महोत्सव समाज के लोग धूमधाम से मनाते है इस दिन को भारत सरकार द्वारा शासकीय छुटटी भी घोषित किया गया है लेकिन इसके बाद भी दुकाने खोले जाने का आदेश दिया जाना समझ से परे है?  

     उल्लेखनीय रहे कि 25 अप्रैल को जिले के मांस मटन की दुकाने सुबह खोले जाने से नाराज जैन समाज के लोगो का यह भी कहना है कि जैन समाज इस घटना से काफी आहत है और इसे लेकर बहुत जल्द जैन समाज की वर्चुअल मीटिंग कर जिला प्रशासन के खिलाफ एक निंदा प्रस्ताव पारित किया जायेगा।
    सकल जैन समाज धमतरी के अध्यक्ष विजय गोलछा ने महावीर जयंती के दिन मांस-मटन, मछली की दुकानें खुले रहने पर आक्रोश जाहिर किया है। श्री गोलछा ने कहा कि हर साल महावीर जयंती के दिन शहर में मांस-मटन की बिक्री पर पूर्णत: प्रतिबंध प्रशासन द्वारा लगाया जाता है, लेकिन इस साल प्रशासन ने इस दिशा में कोई कदम नहीं उठाया और खुलेआम मांस-मटन बिकता रहा जिससे समाज में आक्रोश है। उन्होंने कहा कि भगवान महावीर अहिंसा के पुजारी थे। उनकी जयंती पर ऐसा कृत्य अशोभनीय है।