breaking news New

निर्माण तथा अवसंरचना में इस्पात के लिए नए अवसर विषय पर होगा वेबिनार

निर्माण तथा अवसंरचना में इस्पात के लिए नए अवसर विषय पर होगा वेबिनार

नई दिल्ली । इस्पात मंत्रालय इंडियन स्टील एसोसियेशन (आईएसए) के सहयोग कल निर्माण तथा अवसंरचना में इस्पात के लिए नए अवसर विषय पर दूसरा वेबिनार आयोजित कर रहा है। इस अवसर पर केंद्रीय इस्पात तथा पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री  धर्मेन्द्र प्रधान मुख्य अतिथि होंगे और इस्पात राज्यमंत्री  फग्गन सिंह कुलस्ते सम्मानित अतिथि होंगे।

वेबिनार का फोकस इस्पात के लिए नए अवसरों तथा निर्माण तथा अवसंरचना क्षेत्र में इस्पात के उपयोग के नवीन दृष्टिकोण पर होगा। वेबिनार में इस्पात निर्माण तथा अवसंरचना क्षेत्र के दिग्गज भाग लेंगे।

आईएसए को इस वेबिनार के आयोजन के लिए बधाई देते हुए  धर्मेन्द्र प्रधान ने एक संदेश में कहा कि भारतीय इस्पात उद्योग ने हाल के समय में शानदार कार्य दिखाया है। उत्पादन में तेज वृद्धि के परिणामस्वरूप भारत कच्चे इस्पात का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक बन गया है। कोविड-19 महामारी ने अनेक चुनौतियां पेश की, लेकिन हमने मिलकर इन चुनौतियों से उबरने के रास्ते निकाले। इस्पात क्षेत्र अब विकास के नए चरण में प्रवेश कर गया है और यह अधिक आकर्षक, स्पर्धी और स्थिर बनने की ओर बढ़ गया है। भारत सरकार ने इस्पात सहित विभिन्न क्षेत्रों में उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना प्रारंभ की है और विशेष इस्पातों पर प्राथमिक रूप से फोकस किया गया है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि वेबिनार सभी भागीदारों, प्रतिनिधियों तथा इस्पात, निर्माण और अवसंरचना क्षेत्र के प्रमुख नीतिनिर्धारकों को इस्पात के लिए नए अवसरों के बारे में बातचीत का मंच प्रदान करेगा।

इस्पात राज्यमंत्री  फग्गन सिंह कुलस्ते ने कहा कि लगभग 65-67 प्रतिशत इस्पात की खपत निर्माण और अवसंरचना क्षेत्र में होती है, इसलिए इस्पात उपयोग के लिए नए अवसरों को चिन्हित करना महत्वपूर्ण है।