breaking news New

हुक्का बार : कांग्रेस नेता राजकमल सिंघानिया ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, 'राजधानी में हुक्का बार बंद करें' ज्यादातर का अवैध संचालन, पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाए

हुक्का बार : कांग्रेस नेता राजकमल सिंघानिया ने मुख्यमंत्री को लिखा पत्र, 'राजधानी में हुक्का बार बंद करें' ज्यादातर का अवैध संचालन, पुलिस की भूमिका पर भी सवाल उठाए

जनधारा समाचार
रायपुर. वरिष्ठ कांग्रेस नेता और पूर्व विधायक राजकमल सिंघानिया ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखकर राजधानी के हुक्का बारों को बंद करने की मांग की है. उन्होंने कहा कि ज्यादातर अवैध रूप से संचालित हो रहे हैं जो नई युवा पीढ़ी को नशे की लत लगाकर उन्हें बरबाद कर रहे हैं.


श्री सिंघानिया ने पत्र में लिखा है कि पुलिस हुक्का बारों में छापे तो मारती है लेकिन शहर के गिने चुने पर ही कार्यवाही होने से हुक्का बार तेजी से बढ़ रहे हैं। पुलिस विभाग द्वारा कोई ठोस कार्यवाही नही होने के कारण हुक्का बार चलाने वालों के हौंसले बुलंद होते जा रहे हैं। पुलिस विभाग द्वारा कार्यवाही निरंतर होनी चाहिए। शहर के आउटर में सबसे ज्यादा हुक्का बार का संचालित हो रहा है जो ज्यादातर अवैधानिक रूप से संचालित हैं।

पूर्व विधायक कसडोल राजकमल सिंघानिया ने कहा कि शहर के बाहरी क्षेत्र में छोटे बड़े रेस्टोरेंट से लेकर बड़े होटलों में युवक युवतियां हुक्का गुड़गुडाने लगे हैं। वयस्क के साथ कम उम्र के युवक-युवतियों को भी डोज दिया जा रहा है। नशे की लत होने के कारण युवा वर्ग हुक्का बार में जाकर विभिन्न प्रकार के नशीली पदार्थ जैसे गांजा, चरस, स्मैक, कोकिन, ब्राउन शुगर जैसे घातक मादक दवाओं का सेवन कर रहे हैं. इन जहरीले और नशीले पदार्थों के सेवन से युवा वर्ग के शारीरिक, मानसिक और आर्थिक हानि पहुंचने के साथ ही इससे सामाजिक वातावरण भी प्रदूषित हो रहा है साथ ही स्वयं और परिवार की सामाजिक स्थिति को भी भारी नुकसान पहुंचाया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि नशे करने वाला व्यक्ति परिवार के लिए बोझ स्वरुप हो जाता है। नशे से अपराध की ओर अग्रसर होता जा रहा है तथा शांतिपूर्ण समाज के लिए अभिशाप बन जाता है। नशा राज्य की विकराल समस्या बन गयी है। स्कूल जाने वाले छोटे-छोटे बच्चों से लेकर बड़े-बुजुर्ग और विशेषकर युवा वर्ग बुरी तरह हुक्का बार से प्रभावित हो रहे है। जो इसके चंगुल में फंस गया वह स्वयं तो बर्बाद होता ही है इसके साथ ही साथ उसका परिवार भी बर्बाद हो रहा है। राज्य के युवा वर्ग के भविष्य को संज्ञान में लेते हुए श्री सिंघानिया ने राज्य के हुक्का बारो को पूरी तरह बंद करने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखा है।