breaking news New

कब्रिस्तान से सड़क बनाने का प्रयास : कांग्रेस सरकार का मसीही समाज के साथ अन्याय

कब्रिस्तान से सड़क बनाने का प्रयास : कांग्रेस सरकार का मसीही समाज के साथ अन्याय

 कांग्रेस के प्रभारी मंत्री कवासी लखमा, विधायक रेखचंद जैन जब सरकार में नहीं थे, तब इसी कब्रिस्तान केलिए आंदोलन में साथ खड़े थे
जगदलपुर। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ पार्टी के प्रदेश सयुंक्त महासचिव नरेंद्र भवानी ने कहा कि एक दो व्यक्ति एवं एक प्राइवेट भूमि को लाभ दिलाने के प्रयास से कांग्रेस पार्टी की सरकार द्वारा दोबारा कब्रिस्तान के साथ सड़क के रास्ते बहाने कई पीढिय़ो से उपस्थित मसीही कब्रिस्तान से सड़क बनाने का प्रयास किया जा रहा है। यह मसीही समाज के साथ अन्याय है, और कांग्रेस पार्टी की सरकार के मंत्री विधायक केवल मुखदर्शक बने बैठे हैं। कांग्रेस जब विपक्ष में थी तब इसी कब्रिस्तान के लिए मसीही समाज के  साथ आंदोलन में सभी बड़े कांग्रेसी नेता बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेकर प्रर्दशन किया था, लेकिन आज कांग्रेस के सरकार में मसीही समाज अपने आप को ठगा हुआ महसूस कर रहे है।
     उन्होने कहा कि जिला प्रशासन मसीही कब्रिस्तान से जिस सड़क को बनाने की बात कर रही वास्तव में वाहा कोई सड़क नहीं था, बल्कि उस लाइन में तो कई कब्र मसीही समाज के लोगों का कई पीढिय़ो से है। यदि  जिला प्रशासन वहां से सड़क बनाने का काम करती है तो वह कब्र कहा जायेगी? आखिर किसी के धर्म को ठेस पहुंचा कर कांग्रेस की सरकार क्या साबित करना चाहती है, समझ से परे है।
       जिला प्रशासन के निर्णय का जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ पुरजोर विरोध करती है। जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ जे पार्टी आज कल में ज्ञापन देकर जिलाधिकारी बस्तर को मसीही समाज हित में निर्णय लेने का निवेदन करेगी, ताकि किसी समाज के साथ भेदभाव जैसा माहौल ना बने। उन्होने कह कि पूर्व में भी भाजपा साशन काल में इसी कब्रिस्तान के बाउंड्री के लिए सरकारी सीमांकन पर सरकारी बजट से वर्तमान बाउंड्री बनी है। वर्तमान कांग्रेस की सरकार में यह सीमांकन गलत कैसे हो गया।
       नरेंद्र भवानी ने कहा कि समाज को अकेला निहत्ता समझने का दुस्साहस ना करें, करकापाल कब्रिस्तान कई पीढिय़ो से मसीही समाज के लाखो लोग इसी कब्रिस्तान में दफन है, एवं उनकी आस्थाये जुडी हुई है। कांग्रेस की सरकार इतना बड़ा अत्याचार करने का प्रयास ना करें अन्यथा इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा।