हीरानार से छिंदनार पहुंच मार्ग की सड़क स्थिति जर्जर

हीरानार से छिंदनार पहुंच मार्ग की सड़क स्थिति जर्जर

ग्रामीणों को व वाहन चालकों को हो रही थी परेशानी

जनपद पंचायत सदस्य राजेश कश्यप व ग्राम के जनप्रतिनिधियों की मदद से खुद करवा रहे मरम्मत

दंतेवाड़ा, 17 अक्टूबर। गीदम ब्लॉक मुख्यालय गीदम को ग्राम पंचायतों से जोड़ने वाली दर्जनों सड़कें जर्जर हो चुकी है। उनमें से गीदम - बारसूर मुख्य सड़क हीरानार से छिंदनार पहुंच मार्ग की सड़क की स्थिति बहुत ही ज्यादा जर्जर हो चुकी है। सड़क में एक से दो फुट के गड्ढे हो चुके हैं। जिससे इस मार्ग में वाहनों का चलना दूभर हो गया है। इसकी शिकायत कई बार प्रतिनिधियों द्वारा जिला प्रशासन को की गई है। लेकिन आज तक जिला प्रशासन या पीएमजीवाय ने इस मार्ग की स्थिति पर कोई ठोस कार्रवाई नहीं की है। इस मार्ग की स्थिति और ग्रामीणों को हो रही परेशानियों को देखते हुये जनपद पंचायत सदस्य राजेश कश्यप व हीरानार व कसोली दो ग्राम पंचायत के जनप्रतिनिधियो ने इस मार्ग की मरम्मत का जिम्मा स्वयं उठाया है। और मार्ग की दोनों पंचायतों के सहयोग से इस मार्ग के मरम्मत का कार्य किया जा रहा है और मार्ग के बड़े गड्ढों को मुरम के द्वारा भरा जा रहा हैं।


 इस मार्ग की स्थिति आवागमन के लायक हो सके और लोगों की परेशानियों का निवारण हो सके। गौरतलब है कि इस मार्ग की बदतर स्थिति को लेकर जनपद पंचायत सदस्य राजेश कश्यप व अन्य जनप्रतिनिधियों ने कलेक्टर,विधायक व जिला पंचायत सीईओ को भी पत्र के माध्यम से अवगत करवाया है।लेकिन इस मार्ग के मरम्मत कार्य पर किसी ने भी ध्यान नही दिया है। जबकि यह मार्ग इस क्षेत्र की जनता के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण मार्ग हैं यह  मार्ग ब्लॉक मुख्यालय गीदम से हीरानार, कासोली, छिंदनार, गुटोली सहित लगभग आठ से दस ग्राम पंचायतों को जोड़ता है। और साथ ही जिले का मेगा प्रोजेक्ट छिंदनार जल आपूर्ति परियोजना जो इंद्रावती नदी पर बनाया जा रहा है वह भी इसी मार्ग पर स्थित है। जिसका जायजा लेने कई बार प्रशासनिक अधिकारी पहुंच चुके हैं। और इस मार्ग की स्थिति का उनको भी आभास हो चुका है। लेकिन आज तक किसी ने भी इस मार्ग की स्थिति सुधरवाने की तरफ ध्यान नही दिया। 


जनपद पंचायत सदस्य राजेश कश्यप ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों को ब्लॉक मुख्यालय से जोड़ने वाली सड़कों पर प्रशासन कोई ध्यान नहीं दे रहा है। सड़के जर्जर हो चुकी है। जिले में फंड की कोई कमी नहीं है उसके बाद भी जिला प्रशासन जर्जर सड़कों की तरफ कोई ध्यान नहीं दे रहा है। जबकि इस मार्ग की बदहाली की शिकायत मैने स्वयं कई बार की है। जब इस पर कोई कार्य नहीं हुआ तब ग्रामीणों की समस्या को देखते हुए ग्राम पंचायतों के सहयोग से उनके द्वारा इस मार्ग के मरम्मत का कार्य करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि प्रशासन इसके बाद जागेगा और इस मार्ग के मरम्मतीकरण के लिये ध्यान देगा।