breaking news New

‘बिहान’ द्वारा ग्रामीण महिलाओं को राहत, आजीविका गतिविधियों और आपदा में मदद के लिए 88.75 करोड़ समूहों को जारी

‘बिहान’ द्वारा ग्रामीण महिलाओं को राहत, आजीविका गतिविधियों और आपदा में मदद के लिए  88.75 करोड़  समूहों को जारी


रायपुर !   पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग के अंतर्गत छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (बिहान) द्वारा एक सप्ताह में ही आजीविका गतिविधियों, आपदा के समय आर्थिक मदद और विभिन्न सामुदायिक संवर्गों के मानदेय के भुगतान के लिए 88 करोड़ 75 लाख रुपए की राशि जारी की गई है। राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत जिन जिलों में स्वसहायता समूहों की महिलाएं काम कर रही हैं, उन जिलों को मार्च के अंतिम सप्ताह में यह राशि जारी की गई है। इस दौरान पांच हजार 984 समूहों को आठ करोड़ 98 लाख रूपए की चक्रीय निधि, चार हजार 146 समूहों को 24 करोड़ 87 लाख रूपए की सीआईएफ तथा 39 ग्राम संगठनों को 46 लाख आठ हजार रूपए आपदा कोष के लिए जारी किए गए हैं। इसके साथ ही राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन में संलग्न विभिन्न सामुदायिक संवर्गों जैसे बैंकिंग सखी, कृषि सखी, सीआरपी, पशु सखी, बैंक मित्र, एफएलसीआरपी इत्यादि के मानदेय के लिए भी बड़ी राशि जारी की गई है।


‘बिहान’ द्वारा प्रदेश की महिला स्वसहायता समूहों को पिछले एक सप्ताह में जारी 88 करोड़ 75 लाख रूपए को मिलाकर वित्तीय वर्ष 2019-20 के दौरान विभिन्न गतिविधियों के लिए कुल 254 करोड़ 17 लाख रुपये की राशि जारी की जा चुकी है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में अब तक 22 हजार 80 समूहों को 33 करोड़ 12 लाख रुपए की चक्रीय निधि, दस हजार 774 समूहों को 64 करोड़ 64 लाख रुपए की सामुदायिक निवेश निधि तथा 253 ग्राम संगठनों को करीब 03 करोड़ 04 लाख रुपए की राशि आपदा कोष के रूप में उपलब्ध कराई गई है। ऑनलाइन एमआईएस के माध्यम से स्वसहायता समूहों को ये राशि जारी की गई है।


उल्लेखनीय है कि राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत स्वसहायता समूहों की महिलाओं को आजीविका गतिविधियों और आपदा में आर्थिक मदद के लिए अलग-अलग तरह की धन राशि उपलब्ध कराई जाती है। तीन माह पुराने समूह को चक्रीय निधि के रूप में, छह माह पुराने समूह को सामुदायिक निवेश निधि के रूप में और ग्राम संगठनों को आपदा कोष के तौर पर यह राशि दी जाती है। समूह की महिलाएं अपनी दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ति और आय अर्जक गतिविधियों के लिए इस राशि का उपयोग करती हैं।

chandra shekhar