breaking news New

खराब हुई उर्वरक की क्वालिटी, तो लाइसेंस फौरन सस्पेंड

 खराब हुई उर्वरक की क्वालिटी, तो लाइसेंस फौरन सस्पेंड

राजकुमार मल

भाटापारा- खरीफ की तैयारी कर रहे उर्वरक विक्रेता कृपया ध्यान दें। इस बार रेक पॉइंट से परिवहन, भंडारण और विक्रय तक के हर चरण में उर्वरक के सुरक्षा मानक का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा। किसानों की शिकायत सही मिली तो लाइसेंस सस्पेंड या कैंसिल जैसी सख्त कार्रवाई हो सकती है ।उक्त आशय के आदेश जारी हो गए हैं।


विश्व स्तर पर उर्वरक संकट को ध्यान में रखते हुए इस बार, खरीफ सत्र उर्वरक विक्रेताओं के लिए खासी परेशानी की वजह बन सकता है। आगत संकट को देखते हुए कृषि मंत्रालय के आदेश के बाद उर्वरक निर्माण कंपनियों से निकलने वाली रासायनिक खाद के परिवहन, भंडारण और विक्रय तक के हर कदम पर नियमों का सख्त पहरा होगा। नियम का पालन यदि किसी भी चरण में होता नहीं मिला तो सख्त सजा भुगतनी होगी।

इस वजह से सख्ती

मैदानी अमले की जांच में यह जानकारी सामने आई है कि कंपनियों से निकलकर रेक पॉइंट पहुंचने वाली उर्वरक की बोरियों की जांच नहीं होती। अनलोड के दौरान मौसम का ध्यान नहीं रखा जाता। धूप, धूल और बारिश की स्थिति में भंडार गृहों के लिए रवाना कर दिए जाते हैं। इसलिए या तो गुणवत्ता कम हो जाती है, या फिर मानक में सही नहीं मिलते। यह काम किसानों के साथ सीधे-सीधे नियम विरुद्ध है।

यह नियम मानना होगा



नियमों के पालन में जैसी सख्ती के संकेत मिल रहे हैं ,उसके बाद अब होलसेल और रिटेल काउंटर, दोनों को अपने भंडार गृह में वेंटिलेशन की व्यवस्था करनी होगी। स्टेकिंग के पहले जमीन पर भूसा की एक परत बनानी होगी। स्टैकिंग में बैग और दीवार के बीच मानक दूरी का पालन करना होगा। कारोबार संचालन और बाद की अवधि में तिरपाल से ढकना होगा। सीढ़ियां और फायर फाइटर की उपलब्धता अनिवार्य रूप से करनी होगी।। इसके अलावा हर वह जरूरी इंतजाम करने होंगे, जिसकी सलाह इस कारोबार के लिए दी गई है।

नहीं तो सख्त सजा

खरीफ सत्र की तैयारी के बीच मुख्यालय के आदेश पर जिला स्तर पर उड़नदस्ता की टीम का गठन किया जा रहा है। यह टीम शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्र की उर्वरक दुकानों की भी जांच करेगी। परिवहन से लेकर विक्रय तक के हर चरण में सुरक्षा उपाय का पालन होता नजर नहीं आया तो, उर्वरक लाइसेंस निलंबित या निरस्त किया जा सकता है।

नियमों का पालन अनिवार्य



परिवहन, भंडारण और विक्रय के लिए बने उर्वरक नियमों का पालन हर हाल में करना होगा। सुरक्षा मानक का उल्लंघन किया जाना प्रमाणित हुआ तो विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी।