breaking news New

हमेशा रहना है हेल्दी तो खाना खाएं मिट्टी के बर्तन में

हमेशा रहना है हेल्दी तो खाना खाएं मिट्टी के बर्तन में

आपने अक्सर मिट्टी के प्याले में चाय पी होगी। इससे चाय का स्वाद व पोषक तत्व बढ़ जाते हैं। ऐसे में आप चाहे तो मिट्टी से तैयार बर्तनों में खाना बना सकती है। मिट्टी पोषक तत्वों से भरपूर होती है। वहीं आयुर्वेद द्वारा भी इसमें भोजन पकाना व खाना फायदेमंद माना जाता है। चलिए आज हम आपको इस आर्टिकल में मिट्टी की हांडी में खाना पकाने के फायदे बताते हैं...

-वजन रहे कंट्रोल
अगर आप कम तेल इस्तेमाल करना चाहते हैं तो इसके लिए हांडी में खाना पकाएं। इसमें भोजन पकाने के लिए आपको सिर्फ 1 चम्मच तेल की जरूरत होगी। असल में, इसमें खाना धीरे से पकता है। ऐसे में मिट्टी के बर्तन कुकिंग दौरान नैचुलरी तेल छोड़ते हैं। ऐसे में इसमें तैयार भोजन खाने से वजन कंट्रोल रहता है। ऐसे में मोटापे से परेशान व हैल्थ कॉन्शियस लोगों के लिए इसमें खाना बनाना बेस्ट ऑप्शन है।

- दिल के लिए फायदेमंद
मिट्टी की हांडी में खाना बनाने में कम तेल इस्तेमाल होता है। ऐसे में इससे तैयार भोजन खाने से कोलेस्ट्रॉल कम रहता है। ऐसे दिल स्वस्थ रहता है और इससे जुड़ी समस्याओं के होने का खतरा कम रहता है।

- पीएच स्तर रहेगा बैलेंस
मिट्टी प्राकृतिक रूप से क्षारीय प्रकृति की मानी जाती है। फिर गर्म होने पर मिट्टी भोजन में मौजूद एसिड के साथ मिलकर पीएच लेवल सामान्य करती है।
ऐसे में इससे बीमारियों से बचाव रहता है।

- पाचन तंत्र रहेगा मजबूत
इससे तैयार भोजन खाने में जल्दी व आसानी से पच जाता है। ऐसे में पाचन क्रिया मजबूत होती है। साथ ही गैस, एसिडिटी, कब्ज आदि पेट संबंधी समस्याओं से बचाव रहता है।

- स्वाद और सेहत रखे बरकरार
मिट्टी के बर्तन में सल्फर, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस, मैग्निशियम आदि उचित तत्व पाएं जाते हैं। ऐसे में इसमें खाना बनाने से मिट्टी में मौजूद सभी पोषक तत्व भोजन में मिल जाते हैं। ऐसे में खाना टेस्टी होने के साथ और भी हैल्दी हो जाता है।

ऐसे करें मिट्टी के बर्तन इस्तेमाल
इसे खरीदने से पहले चैक कर लें कि इसमें कोई छेद या दरार ना हो। इसके बाद इसे घर लाकर बर्तन पर सरसों या रिफाइंड तेल लगाएं। उसके बाद इसमें 3/4 पानी भरकर धीमी आंच पर ढककर कर 2-3 घंटे तक पकाएं। बाद में इसे ठंडा करके व धोकर इस्तेमाल करें। ऐसा करने से आपका मिट्टी का बर्तन मजबूत होगा और इसमें से गंध भी नहीं आएगी। इसके अलावा खाना बनाने से करीब 15-20 मिनट तक इसे पानी में डुबोकर रख दे। बाद में इसे सुखाकर भोजन पकाने में इस्तेमाल करें।