breaking news New

लॉकडाउन को देखते छात्रों को मनोवैज्ञानिक संकट से बचने के निर्देश जारी

लॉकडाउन को देखते छात्रों को मनोवैज्ञानिक संकट से बचने के निर्देश जारी

नयी दिल्ली, 06 अप्रैल | विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने कोरोना महामारी में लॉकडाउन को देखते हुए छात्रों को मनोवैज्ञानिक संकट से बचने के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। यूजीसी ने मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक के सुझाव पर  कदम उठाया है।उसने मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सभी स्वायत्त शिक्षण संस्थान को पत्र लिखकर इन दिशा-निर्देशों का पालन करने का आदेश दिया है।यूजीसी ने अपने आदेश में कहा है कि सभी विश्वविद्यालयों और कालेजों को छात्रों की मानसिक हालत का ख्याल रखना है और उनके लिए काउंसिलिंग की व्यस्था करनी है।

इसके लिए सभी कॉलेजों और विश्वविद्यालयों को और कॉलेजों को हेल्पलाइन का इंतजाम करना होगा।छात्रों की निगरानी कॉउंसलर और शिक्षक करेंगे।छात्रों को पत्रों के माध्यम से शांत और सामान्य रहने को कहा जाए।इसके लिए ई-मेल टेलीफोन और सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया जाए।कोरोना वायरस के संकट से लड़ने के लिए सहायता समूह बनें जिनका नेतृत्व होस्टल के वार्डन और शिक्षक करें।यह समूह जरूरतमंद छात्रों की मदद करें।छात्रों में स्वास्थ्य मंत्रालय के वीडियो जारी किए जाएं ताकि उन्हें इस रोग से बचाव की जानकारी तो मिले ही नवीनतम जानकारी भी प्राप्त हो।इसके लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया जाए। यूजीसी ने छात्रों को मनोवैज्ञानिक संकट का मुकाबला करने के लिए कई वीडियो के लिंक और हेल्पलाइन नम्बर 804611007 भी दिये हैं।छात्र यूजीसी का पोर्टल भी देखते रहें।उन्हें सब जानकारी मिलती रहेगी।