breaking news New

जमीन धोखाधड़ी के मामले में दो गिरफ्तार

जमीन धोखाधड़ी के मामले में दो गिरफ्तार

भाटापारा, 14 सितंबर। जमीन धोखाधड़ी के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।  फर्जी मुख्तीयारनामा बनाकर जमीन की रजिस्ट्री की थी अपने भाई के नाम। मामले का संक्षिप्त विवरण इस प्रकार है कि प्रार्थिया रामरज्जी छाबड़ा पति स्व. शरण सिंह छाबडा निवासी पुराना बस स्टैण्ड खरोरा जिला रायपुर के द्वारा लिखित आवेदन पेश कर रिपोर्ट दर्ज कराई कि ग्राम खोलवा की जमीन खसरा नंबर 267 ए 268 ए 269 270 693 2 694 695 786 कुल रकबा 3 100 हेक्टेयर जमीन व ग्राम अवरेठी की जमीन खसरा नंबर 260 1  261 2  262 1 263  कुल रकबा 1 983 हेक्टेयर जमीन को देख रेख हेतु प्रार्थिया अपने भाई स्व. प्रताप सिंह सलुजा के उपर अत्यंत विश्वास करने के कारण प्रार्थिया से प्रताप सिंह सलुजा के द्वारा रामरज्जी छाबडा से कई कोरे कागज एवं कारे स्टांप आदि मे रामरज्जी छाबड़ा का हस्ताक्षर लेकर रखता था ताकि समय समय पर जमीन कि देख रेख निस्पादन में उपयोग किया जा सकें । प्रताप सिंह सलुजा के मृत्यु उपरांत प्रार्थिया द्वारा दिये गये कोरे स्टांप में आरोपीगण सत्यजीत सलुजा जगजीत सिंह सुलजा राजा सलुजा जगप्रीत सिंह सलुजा द्वारा कूट रचित फर्जी मुख्तीयारनामा दस्तावेज तैयार कर जमीन को अपने भाई राजा सलुजा के नाम पर विक्रय कर दिये जिस पर अपराध क्रमांक 285 2018 धारा 420 467  468 471 120बी  34 भादवि व अपराध क्रमांक 286 2018 धारा 420 467 468471 120बी 34  भादवि पंजीबद्ध कर विवेचना किया जा रहा था। मामले में आरोपियों के गिरफ्तारी में विलंब होने पर पुलिस अधीक्षक नीतु कमल द्वारा प्रकरण में शीघ्र आरोपी के गिरफ्तारी हेत कडे निर्देश दिये गये थे जिस पर जेआर ठाकुर अति.पलिस अधीक्षक बलौदाबाजार व केबी द्विवेदी एसडीओपी भाटापारा के निर्देशन में थाना प्रभारी महेश ध्रुव  के नेतत्व में आरोपी की गिरफ्तारी हेतु टीम गठित कर आरोपियों के निवास स्थान में दबिश दी  गई जो आरोपियान अपने अपने सकुनत पर मिले आरोपी सत्यजीत सिंह सलूजा पिता स्व .प्रताप सिंह सलजा 39 वर्ष साकिन बलभद्र वार्ड थारूमल पेट्रोल पंप के पास भाटापारा थाना भाटापारा शहर जिला बलौदाबाजार भाटापारा  छग 2 जगजीत सिंह सलुजा पिता स्व. प्रताप। सिंह सलुजा 48 वर्ष साकिन भगत सिंह वार्ड जावेद धुमाल के सामने भाटापारा थाना भाटापारा शहर जिला बलौदाबाजार-भाटापारा को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेजा गया है।