breaking news New

किसान के सीने पर पड़ने वाली लाठियां केंद्र सरकार के कफन में आखिरी कील होगी साबित : कांग्रेस

किसान के सीने पर पड़ने वाली लाठियां केंद्र सरकार के कफन में आखिरी कील होगी साबित : कांग्रेस

रांची।  झारखंड प्रदेश कांग्रेस ने आज कहा कि न्याय मांगते किसान के सीने पर पड़ने वाली लाठियां केंद्र की नरेंद्र मोदी राज के कफन में आखिरी कील साबित होगी।

प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने यहां कहा कि अन्याय के खिलाफ आवाज उठाना अपराध नहीं, कर्तव्य है, देश के लिए जय किसान था और रहेगा। मोदी सरकार पुलिस की फर्जी प्राथमिकी से किसानों के मजबूत इरादे नहीं बदल सकती। कृषि विरोधी काले कानूनों के खत्म होने तक ये लड़ाई जारी रहेगी।

कांग्रेस नेता दूबे ने कहा कि किसानों पर मोदी सरकार भले ही वाटर केनन चलवाएं, बड़े-बड़े पत्थर लगाकर रास्ता रुकवाएं, कंटीले तार लगाये, मिट्टी के ढ़ेर लगा, सड़कों को बंद करे, बैरियर लगा कर बाधा डलवाये, लेकिन देश के किसानों के मजबूत किसानों के इरादे के आगे केंद्र सरकार को झुकना ही होगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कंपनियों के दफ्तर जा फोटो खींचा रहे है और लाखों किसान दिल्ली के सड़कों पर कराह रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारा नारा तो जय जवान जय किसान का था, लेकिन आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अहंकार ने जवान को किसानों के खिलाफ खड़ा कर दिया।

कांग्रेस नेता ने कहा कि भाजपा के खरबपति मित्र दिल्ली आते हैं, तो उनके लिए लालकालीन डाली जाती है, लेकिन किसानों के लिए दिल्ली आने के रास्ते खोदे जाते हैं। एक देश एक चुनाव की चिंता करने वाले प्रधानमंत्री को एक देश, एक व्यवहार भी लागू करना चाहिए। जब गांधी जी की सत्य-अहिंसा की लाठी लेकर देश के किसान निकले तो दुनिया का सबसे बड़ा ब्रिटिश साम्राज्य तिनके की तरह बिखर गया। आज फिर दिल्ली दरबारके भाजपाई अहंकारियों के खिलाफ हुंकार गूंजी है। कांग्रेस काले कानून को खत्म करने को लेकर वचनबद्ध है।