breaking news New

नायब तहसीलदार की दबंगई पर भारी पड़े एमएलए मनेंद्रगढ़ के कड़े तेवर

नायब तहसीलदार की दबंगई पर भारी पड़े एमएलए मनेंद्रगढ़ के कड़े तेवर

कोरिया/खड़गवां, 26 नवंबर। बीते बुधवार को कोरिया जिले के खड़गवां तहसील स्थित ग्राम पंचायत रतनपुर में नायब तहसीलदार के द्वारा बिना नोटिस,बिना वारंट अन्य कोई सूचना के कार्यवाही से विशेष जनजाति वर्ग के सदस्य बैगा धनुहार आदिवासी दहशत में हैं । जिसकी शिकायत मिलते ही मनेंद्रगढ़ विधायक डॉ. विनय जायसवाल ने गुरुवार को मौके पर उपस्थिति होकर पुरे मामले की जानकारी ली और तत्काल नयाब तहसीलदार खड़गवां को दूरभाष के माध्यम से मौके पर उपस्थित होने की बात कही पर तहसीलदार ने बीमारी का बहाना बताते हुए पटवारी,आर आई को भेज कर खुद मौके से नदारत दिखे , जिसकी शिकायत विधायक मनेंद्रगढ़ ने कलेक्टर कोरिया से की और मौके पर उपस्थित अधिकारियों को जमकर फटकार लगाते हुए गरीब आदिवासियों पर हुई कार्यवाई पर अपनी नाराजगी जाहिर की।

 विधायक मनेंद्रगढ़ ने नयाब तहसील दार को भाजपा शासन में जन्मे भूमाफियाओं को संरक्षण देकर पंडो जाती, गरीब आदिवासियों को खत्म करने की बात कह कर तत्काल उन्हें वन अधिकार पट्टा जारी करते हुए उनके गिरे हुए मकान का मुआवजा देने के निर्देश दिए है । और उसके विपरीत बने हुए भूमाफियाओं के अवैध मकानों के दस्तावेजो की जाँच कर कार्यवाई की बात कही और पुरे मामले को गंभीरता से लेते हुए नयाब तहसीलदार पर प्रशासनिक कार्यवाई की बात कहते हुए कलेक्टर को पुरे मामले से संज्ञान दिलाया गया है। 

जानकारी अनुसार मंगलवार की दोपहर में खड़गवां के नयाब तहसीलदार भगवान दास कुशवाहा मंगलवार को ग्राम पंचायत रतनपुर पहुंचे और बेल्का पिता नावापरिहा धनुहार द्वारा कराए जा रहे मकान निर्माण को ढहा दिया गया। जबकि उक्त भूमि पर सन 1948-49 के रिकॉर्ड पर बेल्का पिता नावापरिहा के नाम पर कब्जा दर्ज है और उक्त भूमि पर बैगा परिवार तीन पीढ़ियों से खेती बाड़ी करते हुए आ रहे हैं और अब उसी भूमि पर अपना मकान बना रहे थे जिसको नयाब तहसीलदार ने नियम कानून का हवाला देकर स्वयं इन नियमो को दरकिनार करते हुए अपने पद का दुरुपयोग करके निर्माणाधीन मकान को तोड़ दिया। ग्रामीण बेल्का ने जानकारी देते हुए बताया कि अगर हम लोग अवैध भूमि पर मकान बना रहे है तो उसका कोई प्रमाण है तो हमे दिखाए स्थानीय प्रशासन ने आज दिवस से पहले कभी भी न हीं नोटिस भेजा न हीं कोई वारंट तामील कराया गया और बीते दिवस अचानक तहसीलदार के द्वारा हमारे मकान को गिरा दिया गया जो हमारी समझ से परे है । जबकि इस भूमि पर हमारी तीन पीढ़ियों का कब्जा रिकार्ड पर दर्ज हैं इतना ही नहीं दूसरे ग्रामीण रामू पिता बुद्ध बैगा ने नयाब तहसीलदार पर डराते धमकाते हुए गाली गलौज करने का आरोप लगाया और कहा कि मै तहसीलदार हूं । अपने दिमाक में बैठा लो ऐसी धमकी दिए जाने से बैगा धनुहार आदिवासी परिवार दहशत में हैं ।  सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार नयाब तहसीलदार भगवान दास कुशवाहा आदतन अपराधी प्रवृत्ति के बताये जाते हैं । बीते दिवस तहसीलदार के ऊपर अ•जा•ज•जा• थाना बैकुंठपुर में पंजीबद्ध अपराध दर्ज होने की जानकारी मिल रही है। (जिसका अपराध क्रमांक 154/2017 है) । वहीं बेल्का पिता नावापरिहा ने नयाब तहसील दार पर अपने मकान निर्माण में कार्य कर रहे मजदूरों का गैंती, फावड़ा सहित पांच हजार रुपए लेने का भी आरोप लगाया गया है ।  जिसकी लिखित शिकायत ग्रामीणों ने विधायक मनेंद्रगढ़ के साथ कलेक्टर से करते हुए तत्काल न्याय की गुहार लगाई है जिससे उनका परिवार इस ठंड के मौसम में अपनी छत के नीचे रह सके ।