breaking news New

महान भौतिकशास्त्री जोसेफ एंटोइन फर्डिनेंड प्‍लेट्यू आज उनकी 218वीं जयंती है.

महान भौतिकशास्त्री जोसेफ एंटोइन फर्डिनेंड प्‍लेट्यू  आज उनकी 218वीं जयंती है.


दुनिया को चलती तस्वीरों का तोहफा देने वाले थे महान भौतिकशास्त्री जोसेफ एंटोइन फर्डिनेंड प्‍लेट्यू  आज उनकी 218वीं जयंती है. 14 अक्तूबर 1801 को बेल्जियम के ब्रसेल्स में  जन्म हुआ. 1829 में उन्होंने भौतिक और गणितीय विज्ञान से स्नातक की उपाधि ली. 1827 में ब्रसेल्स में बच्चों को गणित पढ़ाया और 1835 में गेंट यूनिवर्सिटी में फिजिक्स के प्रोफेसर बन गए, हमारी आंखों के रेटिना पर तस्वीर कैसे बनती हैं. कितनी देर तक रेटिना पर टिकी रहती हैं और आंखे कैसे रंग और गहराई समझ पाती हैं उन्होंने अपने शोध में बताया.उन्होंने फिजियोलॉजिकल ऑप्टिक्स का अध्ययन किया. 1832 में उन्होंने फोनकिस्टी स्कोप का आविष्कार किया. फोनकिस्टी स्कोप वो चीज है जिससे चलती हुई तस्वीरों का भ्रम होता है. आगे चलकर इसी से आधुनिक सिनेमा का जन्म हुआ. जोसेफ प्लेटू के आंखों की रोशनी चली गई थी। वो देख नहीं सकते थे। लेकिन इसके बावजूद उन्होंने विज्ञान के क्षेत्र में अपना काम जारी रखा। इसमें उनके बेटे व दामाद ने उनकी मदद की गूगल ने डूडल बनाकर जोसेफ एंटोनी फर्डिनेंड के डूडल साथ याद किया.