चीन के साथ सीमा विवाद के मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में नहीं उठाएगा भारत

चीन के साथ सीमा विवाद के मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में नहीं उठाएगा भारत

संयुक्त राष्ट्र।  भारत ने कहा है कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के साथ मौजूदा सीमा विवाद को वह संयुक्त राष्ट्र के मंच पर नहीं उठाएगा। भारत ने स्पष्ट किया है कि दोनों पक्ष इस विवाद का समाधान द्विपक्षीय बातचीत के जरिये कर सकते हैं।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टी एस तिरुमूर्ति ने एक बयान में कहा, “ दोनों देश इतने परिपक्व हैं कि आपसी विश्वास मजबूत करने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों के जरिये द्विपक्षीय बातचीत के माध्यम से इसका विवाद का समाधान कर सकते हैं।”

चीन के साथ सीमा विवाद के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र में चर्चा कराने की भारत मांग करेगा अथवा नहीं इस पर श्री तिरुमूर्ति ने कहा, “ हम इस मुद्दे का समाधान करने के लिए पहले से ही द्विपक्षीय रूप से काम कर रहे हैं। हमारे द्विपक्षीय मामलों में संयुक्त राष्ट्र की कोई भूमिका नहीं हो सकती।”

दरअसल, पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन के बीच पिछले करीब चार महीनों से तनाव बरकरार है। इसका समाधान करने के लिए दोनों देशों के बीच विदेश मंत्री स्तर की मुलाकात से लेकर अब तक कई चरण की बातचीत हो चुकी है।

गौरतलब है कि भारत ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के दोनों देशों के बीच सीमा विवाद को लेकर मध्यस्थता करने के प्रस्ताव को भी यह कहकर ठुकरा दिया था कि इसका समाधान द्विपक्षीय बातचीत के जरिये किया जा सकता है।