breaking news New

परमेश्वरी पब्लिक स्कूल में हिन्दी दिवस पर राजभाषा सप्ताह

परमेश्वरी पब्लिक स्कूल में हिन्दी दिवस पर राजभाषा सप्ताह

सक्ती, 14 सितंबर। परमेश्वरी देवी शिक्षण समिति द्वारा संचालित विद्यालय परमेश्वरी पब्लिक स्कूल सक्ती में 14 सितम्बर हिन्दी दिवस के अवसर पर विद्यालय में राजभाषा सप्ताह मनाया गया। राजभाषा सप्ताह  पर हिन्दी दिवस पर प्रकाश डालते हुए बताया गया कि 14 सितम्बर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी। इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिए राष्ट्रभाषा प्रचार समिति वर्धा के अनुरोध पर वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितम्बर को प्रतिवर्ष हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है। विद्यालय के शिक्षक/शिक्षिकाओं के द्वारा दोहा, गीत एवं कविता पाठ किया गया और साथ ही हिन्दी भाषा का अपनी दैनिक जीवन में अधिक से अधिक उपयोग करने एवं प्राचार प्रसार करने के लिए आग्रह किया गया। राजभाषा सप्ताह के अवसर पर विद्यालय परिसर में विभिन्न प्रकार के कार्यक्रम जैसे निबंध लेखन प्रतियोगिता, वाद-विवाद सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता एवं छात्र/छात्राओं के मध्य कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया एवं प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले एवं प्रतियोगिता में भाग लेने वाले समस्त छात्र-छात्राओं को पुरस्कार एवं प्रमाण-पत्र वितरण किया गया। गत दिनों आयोजित कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय, तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले छात्र/छात्राओं को पुरस्कार एवं प्रमाण-पत्र अतिथि कृष्ण कुमार देवांगन (सचिव, परमेश्वरी देवी शिक्षण समिति), प्राचार्य  एम. विकास देवांगन एवं प्रभारी प्राचार्य रेखा देवांगन द्वारा देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम को सफल बनाने में शिक्षक/शिक्षिकाएं माया देवांगन,  अविनाश देवांगन, लक्ष्मी प्रधान,  लक्ष्मी रात्रे एवं पुनम देवांगन, तारा देवांगन, रंजिता यादव, सविता चौहान, शंकुतला देवांगन, निकहत खान,  अमृता भगत, साजिदा परवीन,  अंजली चौहान, कु. सिमरन देवांगन, चन्द्रकला यादव,  रचना शर्मा  बबीता देवांगन, दीपिका यादव, सरस्वती यादव, कोमल थवाईत, यामिनी देवांगन, प्रीति गोस्वामी, किरण जायसवाल, संध्या सोनी, शिवशंकर पटेल,मुकेश देवांगन, गरिमा यादव, आफरिन,  स्वाति अग्रवाल एवं शिक्षणोत्तर रमा विश्वकर्मा, विनोदनी सोनी,  मंजु यादव, हरिशंकर बरेठ, दिलिप यादव, प्रकाश यादव, प्रमोद साहु एवं  मंगल यादव का योगदान रहा। कार्यक्रम को सफल बनाने में सांस्कृतिक प्रभारी लक्ष्मी प्रधान, लक्ष्मी रात्रे एव  पूनम देवांगन का योगदान रहा।