breaking news New

लाफिन कला मे 94 साल से हो रहा रामलीला

लाफिन कला मे 94 साल से हो रहा रामलीला

महासमुंद। विविध आयोजनों के लिए सुप्रसिद्ध ग्राम लाफिन कला में दशहरा के अवसर पर अंगद रावण संवाद व रावण वध लीला का मंचन किया गया। साथ ही बाल समाज लीला मंडली ने नब्बे पंचानबे वर्षों से अब तक के जितने भी लीला मंडली के कलाकार रहे हैं, उन्हें आमंत्रित कर श्रीफल भेंटकर सम्मानित किया। साथ ही उन्हें अपना अनुभव व्यक्त करने का अवसर भी दिया। अपने अनुभव सुनाते हुए ग्राम के बुजुर्ग सियाराम साहू,कीर्तनकार जगदीश प्रसाद साहू ,सुकदेव साहू, गिरीश कुमार साहू ,जीवन लाल साहू,मंगतूराम साहू ने अपने अपने अनुभव बताते हुए कहा-पहले के समय में आज जैसे कोई सुविधाएँ नहीं थी।टिमटिमाते दिए,लालटेन व मसाल की रोशनी में लीला खेला करते थे।बडी संख्या मे लोग एकत्रित होकर तन्मयता से लीला देखने आते थे।

उस समय लोगों के पास मनोरंजन का कोई साधन भी नही था लीला नाटक देखकर उसे अपने जीवन में उतारते थे, आज का युवा पीढ़ी आधुनिकता के दौर मे अपनी प्राचीन सभ्यता संस्कृति से दूर होते जा रहे हैं।हमारे ग्राम मे 94 वर्षों से अब तक लगातार रामलीला का मंचन हो रहा है जो अपने आपमें कीर्तिमान है।

पहले आठ दस दिनों की लीला खेली जाती थी। वहीं लीला मंडली के संचालक जनकराम साहू ,सचिव रामजी साहू, पंचराम साहू, हरिराम साहू, शिक्षक गोवर्धन प्रसाद साहू व महेद्र कुमार पटेल ने बताया कि आज की युवा पीढ़ी नाटक लीला में कोई रुचि नहीं लेते। कोई भी पात्र बनना नहीं चाहते,घंटों मोबाईल मे बिता देते है पर लीला नाटक में भाग लेने से कतराते है। धीरे धीरे युवा वर्ग हमारे प्राचीन सभ्यता ,संस्कृति से दूर होते जा रहे हैं।आज अनेक समस्याओं के कारण बहुत मुश्किल से लीला मंडली संचालित हो रही है।अब प्राचीन परंपरा को बचाने ही यह आयोजन करते है।इस वर्ष लीला के प्रमुख पात्र जीवराखन साहू राम, कन्हैयालाल साहू लक्ष्मण,नाथू साहू रावण, शिक्षक महेन्द्र कुमार पटेल अंगद,टीका पटेल हनुमान ,रोशन लाल साहू जामवंत, अरुण कुमार साहू सीता,अजय पटेल नर्तकी, राधेश्याम साहू सरपंच राक्षस, पुराणिक साहू राक्षस सहित छोटे छोटे बच्चों ने राम व राक्षस सेना का किरदार निभाए।वहीं इस वर्ष दशफिट का दशानन सभी के लिए आकर्षण का केन्द्र रहा। इस अवसर पर बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित होकर रामलीला व रावण वध में भाग लेते हुए रावण के पुतले दहन कर एक दूसरे को दशहरा की बधाई दिए।