breaking news New

शहीद जवान की मौत इंसास की गोली से हुई

 शहीद जवान की मौत इंसास की गोली से हुई

शहीद जवान को शहीद का दर्जा मिलेगा- एसपी अभिषेक पल्लव

मुकेश श्रीवास

दंतेवाड़ा, 9 अक्टूबर। मंगलवार को दंतेवाड़ा जिले के कटेकल्याण इलाके में मुठभेड़ के दौरान जवान की हुई मौत हार्ट अटैक से नहीं बल्कि इंसास से निकली बंदूक की गोली लगने से हुई है दन्तेवाड़ा एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने इस बात की पुष्टि की है.उन्होंने कहा है की जलबाजी में पहले जारी प्रेस नोट में हार्ट अटैक से मौत होना बताया गया था.कटेकल्‍याण के पिटेडब्बा में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में शहीद जवान कैलाश नेताम की मौत पहले हार्ट अटैक से होने की बात कही गई. लेकिन अब जवान की मौत की वजह कुछ और ही निकल गई है.दन्तेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने पुष्टि की है कि गोली लगने से जवान की मौत हुई है.एक्सरे कराने के बाद इसका खुलासा हुआ है.यानी पहले जल्दबाजी में प्रेस नोट जारी कर हार्ट अटैक से मौत होने की वजह बता दी गई. अन्य साथी जवानों को भी इसकी जानकारी नहीं लगी की उसकी मौत कैसे हुई ?जवान के शरीर पर कमर के नीचे हिप्स में गोली लगी है.जिससे उसकी मौत हुई.यही नहीं गोली लगने के बाद शरीर से खून भी नहीं निकला है.जवान के शरीर में मिली गोली इंसास रायफल से निकली है.


एक ही वाहन में लाया गया जवान और नक्सली का शव

मंगलवार को दंतेवाड़ा में नक्सली मुठभेड़ में एक जवान शहीद हो गया. मंगलवार को शहीद जवान के शव का पोस्टमार्टम नहीं किया जा सका.बुधवार को 24 घंटे बीतने के बाद शहीद जवान के शव का पोस्टमार्टम किया गया.इस बीच जवान की मौत के बाद पुलिस की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है.बताया जा रहा है कि शहीद जवान के शव लिए अलग से एम्बुलेंस या गाड़ी की भी व्यवस्था नहीं की गई.शहीद जवान का शव नक्सली के शव के साथ ही एक ही वाहन में लाया गया.शहीद जवान को मारे गए नक्सली के शव के साथ पिकअप वाहन में लादकर लाया गया.हालांंकि एसपी अभिषेक पल्लव का कहना है कि एक ही गाडी होने की वजह से दोनों का शव का साथ लाना पड़ा। एसपी ने कहा कि निश्चित रुप से शहीद जवान हमारा अपना है लेकिन मारे गए नक्सली का भी हम सम्मान करते हैं.उन्होंने कहा कि शहीद जवान को सम्मानपूर्वक उनके गृहक्षेत्र भेजा गया और सम्मानपूर्वक उनकी अंतिम विदाई दी गई.