breaking news New

Gangrape at Sriram Care Hospita : युवती ने शिनाख्त परेड से किया इंकार

Gangrape at Sriram Care Hospita : युवती ने शिनाख्त परेड से किया इंकार



खऱाब स्वास्थ्य का दिया हवाला

बिलासपुर। शहर के श्रीराम केयर अस्पताल के आईसीयू कक्ष में गैंगरेप का आरोप लगाने वाली युवती ने आज शिनाख्त परेड करने से इंकार कर दिया। पुलिस की ओर से शिनाख्त परेड की पूरी तैयारी थी।

युवती और उसके परिजन जिसमें उसके पिता शामिल हैं, उन्होंने लगातार समझाईश के बावजूद शिनाख्त परेड में शामिल होने से यह कहते हुए इंकार किया कि, पीडि़ता की मानसिक स्थिति अभी बेहतर नहीं है, जैसे ही बेहतर होगी वह पहचान परेड के लिए पुलिस को खुद सुचित करेगी। युवती नर्सिंग की छात्रा है और बीते 18 मई को ज़हरीले पदार्थ के सेवन के बाद उसे श्रीराम केयर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। युवती के पिता ने पुलिस को सूचना दी थी कि युवती के साथ 21 मई को आईसीयू में गैंगरेप हुआ है। युवती ने यह जानकारी अर्धचेतन अवस्था में कागज़़ पर लिखकर दी थी।

मामले के सामने आने के बाद हंगामा बरप गया और युवती को अपोलो शिफ़्ट किया गया। कल युवती ने मजिस्ट्रेटियल बयान में अनाचार के आरोप को दोहराया। युवती को अपोलो से डिस्चार्ज कर दिया गया है।

नियमों के तहत युवती को शिनाख्त कर आरोपियों को पहचानना था, लिहाज़ा पुलिस और मजिस्ट्रेट ( महिला तहसीलदार) के सामने ज़ब युवती से शिनाख्त करने के लिए कहा गया तो युवती और उसके परिजन आज शिनाख्त करने से इंकार कर गए। युवती और परिजनों का तर्क था कि, युवती की मानसिक स्थिति अभी स्थिर नहीं है, शिनाख्तगी के लिए आगामी तारीख वे स्वयं सुचित करेंगे।

मजिस्ट्रेट (तहसीलदार) और पुलिस ने आग्रह किया कि, वे पहचान कर लें लेकिन युवती और उसके परिजन नहीं माने। आखिरकार उनसे लिखित में उनका पक्ष दर्ज किया गया और युवती तथा उसके परिजन चले गए।

इधर मजिस्ट्रेटियल बयान में युवती ने पूर्व में दिए गैंग रेप के बयान के बजाय केवल रेप की बात कही है। पुलिस और मजिस्ट्रेट को अब युवती और उसके परिजनों द्वारा दी जाने वाली उस तारीख़ का इंतज़ार है जबकि संदेहियों की शिनाख्तगी होगी।