breaking news New

CM भूपेश बघेल ने प्राचीन मान्यता का सम्मान किया, हेलीकाप्टर की बजाय कार से अमरकंटक पहुंचे, मां नर्मदा की पूजा अर्चना की,

CM भूपेश बघेल ने प्राचीन मान्यता का सम्मान किया, हेलीकाप्टर की बजाय कार से अमरकंटक पहुंचे,  मां नर्मदा की पूजा अर्चना की,

अमरकंटक. चुनाव प्रचार के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अमरकंटक को हवाई मार्ग से क्रॉस नहीं करने की राजनैतिक मान्यता का पालन किया. उन्होंने मां नर्मदा मंदिर में पूजा अर्चना की. सीएम ने पूजा कर प्रदेशवासियों की सुख समृद्धि की कामना की. मुख्यमंत्री ने कहा कि जो मान्यता है उसको हमको पालन करना चाहिये. अमरकंटक में एक से बढ़कर एक साधु संत वहां रहते हैं, ऐसे में जो मान्यता है, उसको मानना ही चाहिए.

उनके साथ प्रदेश के आबकारी मंत्री कवासी लखमा भी मौजूद रहे. मुख्यमंत्री और मंत्री ने मां नर्मदा की आरती कर प्रार्थना की. मुख्यमंत्री हेलीकाॅप्टर से अमरकंटक जाने की बजाय जोगीसार की सभा के बाद हेलीकाप्टर से पेंड्रा आए और यहां से सड़कमार्ग से अमरकंटक के लिए रवाना हुए. वहीं साधु संतों की तपोभूमि पर पहुंचने के बाद यहां मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मां नर्मदा को प्रणाम कर पूजा अर्चना की.

दरअसल राजनेताओं को हवाई मार्ग से अमरकंटक आना और नर्मदा को अमरकंटक में क्राॅस करना अपशगुन माना जाता है. बता दें कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 30 अक्टूबर को पहली सभा मध्यप्रदेश के अनूपपुर के जैतहरी में करने जाने के लिए सड़कमार्ग से ही पेंड्रा आएंगे. यहां से हेलीकाप्टर से जैतहरी और मरवाही के दानीकुंडी और बस्तीबगरा में चुनावी सभाएं करेंगे.