breaking news New

छात्रों और थियेटर आर्टिस्टों का पूरा जत्था पहुंच रहा फिल्म महोत्सव में बारीकियां सीखने

छात्रों और थियेटर आर्टिस्टों का पूरा जत्था पहुंच रहा फिल्म महोत्सव में बारीकियां सीखने

रायपुर : रायपुर में चल रहे अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में देश भर की सभी बोलियों में बनने वाली फिल्मों में काम करने वाले लोगों के साथ ही रायपुर भिलाई सहित प्रदेश के कई जिलों से कॉलेज की पढाई करने वाले छात्र भी बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं। फिल्म महोत्सव के दूसरे दिन अरीना एनिमेशन, कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्द्यालय और प्रदेश में नुक्कड़ करने वाले थियेटर आर्टिस्टों का एक पूरा जत्था पंहुचा था। जिन्होंने महोत्सव को लेकर बड़ी ही रोचक बातें कही। 

उतनी बारीकियां सीखने को संस्थानों में नहीं मिलती जितनी यहां पर 

मैक अरीना एकडमी से आये सचिन, अनवांशिका, रोशन और आदित्य इन सभी का कहना है की इस फिल्म महोत्सव के दौरान जिस तरह की बारीकियां सीखने को मिल रही हैं उतनी गहराई से संस्थानों में पढाई करके नहीं सीखा जा सकता। ये फिल्म महोत्सव अपने आप में बहुत बड़ी पाठशाला जैसे है, जिसमे हम लोगों को बैरियेशन्स ऑफ़ थॉट देखने और सीखने को मिलते हैं। 

जीवन को फिल्मों के माध्यम से बेहतर समझा जा सकता है

कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता विश्वविद्द्यालय से बैचलर डिग्री कर रहे छात्रों के लिए ये फिल्म महोत्सव किसी डिग्री से कम नहीं है। यहां पर पहुंचे छात्रों ने अपना एक्सपीरियंस शेयर करते हुए बताया की पढाई करते समय क्लास में जो चीजे पढ़ते समय समझ ही नहीं आती थी पिछले दो दिनों से यहां दिखाई जाने वाली फिल्मों और उनकी बारीकियों को देखते ही वो सारे प्रश्न फिल्मों के साथ ही परदे पर दिखने लगते हैं जिनको समझने में परेशानी हो रही थी। आज ऐसा समझ आरहा है की जिंदगी एक विजुअलाइजेशन ही तो है जिसे फिल्मों के माध्यम से ही बेहतर समझा जा सकता है।