breaking news New

कार्तिक पूर्णिमा स्नान के दौरान बिहार के नवादा में डूबने से तीन की मौत

कार्तिक पूर्णिमा स्नान के दौरान बिहार के नवादा में डूबने से तीन की मौत

कार्तिक पूर्णिमा के मौके पर बिहार के नवादा में जिले में आज सुबह मंगलवार को एक दर्दनाक हादसा हो गया. कार्तिक पूर्णिमा पर नहाने गई दो युवतियों की मौत हो गई, जबकि बचाने गए एक शख्स की भी डूबकर मौत हो गई.

यह हादसा नवादा जिले के कौआलकोल के सूर्य मंदिर तालाब में हुआ. पुलिस के मुताबिक, कौआकोल थाना क्षेत्र के सोखोदेवरा सूर्य मंदिर तालाब के पास कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर स्नान करने के दरम्यान दो युवतियां डूब गईं. जबकि डूबने के दौरान युवतियों को बचाने के लिए गए सोखोदेवरा जेपीएन स्पोर्टिंग क्लब के अध्यक्ष अविनाश कुमार उर्फ राकेश सिंह की भी डूबकर दर्दनाक मौत हो गई.

स्नान के दौरान डुबने वाली युवतियों की पहचान हो गई है. दोनों युवतियों की उम्र 18-18 साल की है जबकि बचाने वाले शख्स की पहचान अविनाश कुमार पिता मिथिलेश सिंह की उम्र 40 वर्ष बताई जा रही है.

घोंघा चुनने के चक्कर में डूब गए 4 लोग

इस हादसे से 2 दिन पहले बेगूसराय में रविवार को अलग-अलग घटनाओं में डूबने से 8 लोगों की मौत हो गई. पहली घटना गढ़पुरा थाना क्षेत्र के हरखपूरा सहरा चौर की है, जहां पर घोंघा चुनने के लिए गए एक ही गांव के 4 लोगों की पानी में डूबकर मौत हो गई. जबकि एक व्यक्ति की हालत अब भी गंभीर बनी हुई है.

हरखपूरा निवासी सोनी कुमारी, सुलेखा कुमारी, सुमित कुमार, खुशबू कुमारी और लालमणि देवी घोंघा चुनने के लिए हरखपूरा चौर गए थे. इस बीच सोनी कुमारी गहरे पानी में डूबने लगी, जिसे बचाने के लिए एक-एक कर सभी लोग गहरे पानी में उतरते चले गए. इस हादसे में सोनी कुमारी, सुलेखा कुमारी, सुमित कुमार और खुशबू कुमारी की पानी में डूबने से मौत हो गई.

जबकि दूसरी घटना भगवानपुर थाना क्षेत्र के मानोपुर की है, जहां लकी कुमार, गुड़िया खातून और रेहाना खातून की नहाने के दौरान बलान नदी में डूबने से मौत हो गई. ये सभी लोग बलान नदी में नहाने के लिए गए थे. इस दौरान ये सभी गहरे पानी में चले गए और डूब गए. इसमें सभी तीनों लोगों की मौत हो गई.

ससुराल में डूबने से हुई मौत
नदी में डूबने की तीसरी घटना भगवानपुर थाना क्षेत्र के दामोदरपुर गांव में घटी, जहां ससुराल आए युवक संतोष मलिक की नदी में डूबने से मौत हो गई. संतोष मलिक समस्तीपुर के रहने वाले थे और दामोदरपुर अपने ससुराल आए हुए थे.

संतोष मलिक जब नहाने के लिए बलान नदी में गए, तो उनका पैर फिसल गया और वो गहरे पानी में चले गए. उनको बचाने की लोगों ने कोशिश की, लेकिन विफल रहे.