breaking news New

लेटलतीफी से परेशान हो रहे विद्यार्थी

लेटलतीफी से परेशान हो रहे विद्यार्थी

भानुप्रतापपुर, 18 सितंबर। बस्तर विश्वविद्यालय विद्यार्थियों के लिए परेशानी का विश्वविद्यालय बन गया है। यह विवि अपने एकेडमिक कैलेंडर को सही समय पर लागू करने में नाकाम हो रहा है। इन दिनों बीएससी एवं बीए के भाग एक और दो के लिए पुनर्मूल्यांकन फार्म भर चुके परीक्षार्थी खासे असमंजस में नजर आ रहे हैं। वे पढ़ाई-लिखाई छोड़ हर रोज यही पता लगाने के लिए कॉलेज और कम्प्यूटर सेंटर में भटकने को मजबूर हैं कि रिजल्ट कब आएगा और सप्लीमेंट्री के फार्म कब भरे जाएंगे। बस्तर विवि के परीक्षा विभाग का हालात बद से बदतर हो गया है।
17 सितंबर को विवि द्वारा जारी एक नोटिफिकेशन के तहत बीए, बीएससी भाग एक और दो के लिए 19, 20 और 21 सितंबर को निर्धारित पूरक परीक्षा की तारीख बढ़ा दी गई है। यह परीक्षा अब 01 एवं 03 अक्टूबर को होंगे। इस कक्षा सहित बाकी कक्षा के अन्य विषयों की परीक्षाओं की तारीख को यथावत रखा गया है। ज्ञात हो कि बस्तर विवि का पूरक परीक्षा 19 सितंबर से प्रारंभ हो रही है पर बुधवार शाम तक बीए, बीएससी के भाग एक और दो का पुनर्मूल्यांकन रिजल्ट नहीं आ पाया है। विवि द्वारा पुनर्मूल्यांकन रिजल्ट आने के बाद पूरक परीक्षा फार्म ऑनलाइन करने में बहुत कम समय दिया जा रहा है। ग्रामीण क्षेत्र में दो-चार दिन में परीक्षा फार्म ऑनलाइन कर उसे कॉलेज में जमा करना मुश्किल हो रहा है। बीकॉम तीनों वर्ष और बीए और बीएससी फाइनल के लिए पुनर्मूल्यांकन रिजल्ट आने के बाद पूरक के लिए फार्म भरने के लिए बहुत कम समय दिया गया। कई विद्यार्थी बुधवार को अंतिम दिन फार्म भरे हैं। बस्तर विवि की बदइंतजामी का ये आलम यह है कि विद्यार्थिंयों को फार्म भरने के बाद एक-दो दिन भी परीक्षा की तैयारी के लिए नहीं मिल पा रहा है। अब बीए बीएससी भाग एक और दो के कई परीक्षार्थियों को पुनर्मूल्यांकन के बाद पास और सप्लीमेंट्री आने की आशा है पर वे देर होने की वजह से परेशान हैं। कई ने तो विवि की लेटलतीफी से परेशान होकर पुर्नमूल्यांकन रिजल्ट आने के पूर्व सप्लीमेंट्री के लिए ऑनलाइन कर दिया है। फार्म भर दिए परीक्षार्थियों का ऑनलाइन एडमिटकार्ड भी आ गया है।   विवि ने अपना दो वेबसाइट बना रखा है। एक में एकेडमिक जानकारी दी जाती है दूसरे में प्रवेश और परीक्षा फार्म भरे जाते हैं। रिजल्ट किसी तीसरे वेबसाइट से डाउनलोड करने पड़ रहे हैं। हाल ही में परीक्षा फार्म भरे जाने वाले वेबसाइट से तीसरे वेबसाइट का लिंक दिया गया हैै। अलग-अलग वेबसाइट होने के कारण भी विद्यार्थियों को दिक्कतें हो रही हैं। यहां तक कि इस बार पूरक परीक्षा का टाइम टेबल की जानकारी भी वेबसाइट पर नहीं मिल पाया है।
मूल्यांकन कार्य की गति बहुत धीमी
पुनर्मूल्यांकन की सुविधा विद्यार्थियों का एक वर्ष बचाने के उद्देश्य से लागू किया गया है पर इसके रिजल्ट बहुत देरी से जारी हो रहे हैं। इससे विद्यार्थियों को कहीं रेगुलर में प्रवेश नहीं मिल पा रहा है क्योंकि इसके रिजल्ट आने तक प्रवेश संबंधी तारीख निकल जाती है। बताया जा रहा है कि हर वर्ष विवि की इसी तरह की लापरवाही सामने आती है।