Corona: रूस ने किया वैक्सीन बनाने का दावा, पहला टीका राष्ट्रपति पुतिन की बेटी को लगा

Corona: रूस ने किया वैक्सीन बनाने का दावा, पहला टीका राष्ट्रपति पुतिन की बेटी को लगा

मॉस्को। कोरोना वैक्सीन को लेकर रूस ने बड़ा दावा किया है। रूस का कहना है कि उसने कोरोना की पहली वैक्सीन तैयार कर ली है और राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन की बेटी को वैक्सीन का टीका लगाया गया। राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने एलान किया कि ये दुनिया की पहली सफल वैक्सीन है और रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसे मंजूरी दे दी है।

रूस की समाचार एजेंसी एएफपी ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। इस वैक्सीन को मॉस्को के गामेल्या इंस्टीट्यूट ने तैयार किया है। मंगलवार को रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना की Gam-Covid-Vac Lyo वैक्सीन को सफल करार दिया और इसी के साथ व्लादिमीर पुतिन ने दावा किया कि रूस में जल्द ही इस वैक्सीन का प्रोडक्शन शुरू किया जाएगा और बड़ी संख्या में वैक्सीन की डोज बनाई जाएगी।

व्लादिमीर पुतिन ने बताया था कि उनकी बेटी को कोरोना संक्रमण हुआ और उसे ये नई वैक्सीन दी गई है। वैक्सीन देने के कुछ देर बाद उसका तापमान बढ़ा लेकिन अब वो पहले से ठीक और स्वस्थ है। रूस के अधिकारियों ने बताया कि इस वैक्सीन की डोज मेडिकल अधिकारियों, अध्यापकों और दूसरे लोग जिन्हें ज्यादा खतरा हो सकता है, को दी जाएगी।

अब अगर रूस की वैक्सीन को विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से मंजूरी मिल जाती है तो यह दुनियाभर के लिए एक बड़ी राहत साबित हो सकती है। रूस में अबतक नौ लाख कोरोना वायरस के मामले सामने आ चुके हैं और 15,000 से ज्यादा लोग इसकी चपेट में आकर अपनी जान गंवा चुके हैं।

रूस के प्रधानमंत्री के अलावा कैबिनेट के दूसरे मंत्री भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं और उनका इलाज चल रहा है। रूस ने महीने भर पहले से वैक्सीन तैयार करने का दावा कर दिया था और कहा था कि 10-12 अगस्त के बीच वैक्सीन रजिस्टर हो जाएगी लेकिन ब्रिटेन और अमेरिका, रूस की वैक्सीन पर भरोसा नहीं करते हैं।

इसके अलावा रूस पर वैक्सीन के फॉर्मूले चुराने का भी आरोप है। रूसी एजेंसी तास के अनुसार मंगलवार को देश के शीर्ष अधिकारियों के नेतृत्व में एक बैठक बुलाई गई, जिसमें राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा कि जहां तक मुझे पता है, आज सुबह दुनिया में पहली बार कोरोनो वायरस संक्रमण से बचने की एक वैक्सीन रजिस्टर्ड कर ली गई है।

पुतिन ने स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराशको से इस बारे में विस्तृत जानकारी देने को कहा, मिखाइल ने बताया कि रूस की वैक्सीन प्रभावी तरीके से काम करती है और अच्छी इम्यूनिटी पैदा करती है। मिखाइल ने जोर देते हुए कहा कि इस वैक्सीन के लिए सभी ट्रायल किए जा चुके हैं।

रूस के स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि वैक्सीन के ट्रायल के परिणाम सामने हैं और ये देखा गया है कि वैक्सीन से मरीज के शरीर में इम्यूनिटी पैदा होती है। अभी तक वैक्सीन को लेकर किसी मरीज में कोई साइड इफेक्ट नहीं देखे गए हैं। रूस ने दावा किया कि उसने जो वैक्सीन तैयार की है वो क्लिनिकल ट्रायल में 100 फीसदी सफल हुई है।