breaking news New

हिन्दी दिवस पर बच्चों ने विभिन्न विषयों पर अभिव्यक्त किये विचार

हिन्दी दिवस पर बच्चों ने विभिन्न विषयों पर अभिव्यक्त किये विचार
  • पितृपक्ष के पहले ही दिन बच्चों में बांटी कापियां एवं अन्य लेखन सामग्री
  • नारायणी साहित्य अकादेमी एवं चरामेति फाउंडेशन के संयुक्त आयोजन में प्रेरित हुए बच्चे

रायपुर, 14 सितंबर। नारायणी साहित्य अकादमी एवं चरामेति फाउंडेशन ने संयुक्त रूप से शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, मठपुरैना के परिसर में स्थित आवासीय बालक छात्रावास क्रमांक तीन में रह रहे बच्चों के मध्य ताइक्वांडो खेल भवन में हिन्दी दिवस का आयोजन किया।

इस अवसर पर कक्षा 2री से कक्षा 8वीं तक के छात्रों रामेश्वर साहू, गुरविंदर सिंह, टिकेन्द्र ढीढी, रूप किशोर, गुरमीत सिंह, पीयूष साहू, तिरदेव पाल,  धनेश दास,  निखिल डहरिया,  आर्यन डोंगरे,  घनश्याम,  दिलखुश कुर्रे,  प्रताप बघेल,  महेन्द्र विश्वकर्मा एवं प्रकाश गिलहरे ने कविता पठन के साथ ही जल संरक्षण,  उर्जा संरक्षण,  मेरी पाठशाला,  पर्यावरण संरक्षण,  मित्रता,  शिक्षा का महत्व एवं हमारा बालक छात्रावास जैसे विषयों पर अपने विचार व्यक्त किये। खास बात यह रही कि इन छोटे बच्चों ने बिना पेपर देखे अपने विचार व्यक्त किये।

चरामेति फाउंडेशन के महासचिव राजेंद्र ओझा ने बताया कि इस अवसर  नारायणी साहित्य अकादमी की प्रांतीय अध्यक्ष डॉ मृणालिका ओझा ने अच्छी हिन्दी एवं बिना रूके प्रस्तुति देने के लिए बच्चों की सराहना की। युको बैंक के हिन्दी अधिकारी सुभाष चन्द्राकर ने आशा व्यक्त की कि ये प्रतिभावान बच्चे छत्तीसगढ़ का नाम रौशन करेंगे। सी पी आर नायडू  ने बच्चों को उपयोगी शिक्षा हेतु प्रेरित किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री सुमित दास जी ने कहा कि हिन्दी से ही पूरा देश चल रहा है। कार्यक्रम के अध्यक्ष संजीव ठाकुर ने आशा व्यक्त की कि ये बच्चे हिन्दी को अवश्य ही आगे ले जायेंगे। इस अवसर पर प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र भी वितरित किये गये।

श्राद्ध पक्ष के प्रथम दिन ही चरामेति फाउंडेशन ने एक और अभिनव पहल करते हुए शिक्षा को बढावा देने के उद्देश्य से समस्त 100 बच्चों को कापियों के साथ पेन,  पेन्सिल,  रबर,  शार्पनर एवं स्केल वितरित किये।

संचालक योगेश देवांगन जी ने बताया कि छात्रावास बनने के आठ साल में यह पहला अवसर है जब बच्चों को अपनी प्रतिभा प्रस्तुत करने का इस तरह का अवसर मिल रहा है। 

उपरोक्त कार्यक्रम अर्चना चौबे,  राजेश्वरी ठाकुर,  प्रतिभा चन्द्राकर,  कुमारी श्वेता शर्मा,  सुमन देवांगन, गोविंद सोनी, संजीव बल्लाल, उत्तम पाण्डेय,  प्रभात तिवारी,  दीपक पात्रिकर, कुलदीप सिंह होरा, जे पी सर,  जितेन्द्र चौहान, गोहिल आदि की उपस्थिति एवं सहयोग से संपन्न हुआ।