breaking news New

जिला चिकित्सालय में बेसिक लाईफ सपोर्ट पर कार्यशाला

जिला चिकित्सालय में बेसिक लाईफ  सपोर्ट पर कार्यशाला


 
बलौदाबाजार। किसी व्यक्ति के जीवन को बचाने के लिए हमें चिकित्सा क्षेत्र के बेसिक जानकारी का होना अति आवश्यक है जानकारी होने से हम किसी व्यक्ति के जीवन को बचाने और नया जीवन देने मे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते है ।
          उक्त बाते आज जिला चिकित्सालय मे आयेाजित बेसिक लाईफ सपोर्ट के एक दिवसीय कार्यशाला मे रायपुर नारायण हास्पीटल से आये विशेषज्ञ डा अजय कुमार मिश्रा ने उपस्थित चिकित्सालय स्टाफ व मरीजो के परीजनो से कही । डा मिश्रा ने बताया कि लाईफ मे कई जगह एैसी स्थिति आ जाती है कि हमे तत्काल डाक्टरी सुविधा नही मिल पाती है और जानकारी के अभाव मे वयक्ति की जान जा सकती हे एैसे ही समय के लिए बेसिक लाईफ सपोर्ट की जानकारी की आवश्यकता होती है कि हम उस व्यक्ति की जान को कैसे बचा सकते हंै और यदि हमे इसकी जानकारी होगी तो हम उसे बचा सकते हैं। अधिकतर वाहन दुर्धटना, या अन्य दुर्धटना के वक्त आदमी बेहोशी की हालत मे होता है और उसका हार्ट काम करना बंद कर देता है या सांसो मे तकलीफ  होने लगती है ऐसी अवस्था मे हम उसकी छाती मे पंपिग कर उसकी जान बचा सकते है या फि कृत्रिम सांस दिया जा सकता है या उसके मुहं मे जोर से फुंक मारकर भी जान बचा सकते हैं। पंपिग करने से ब्लड सकृ्रलेशन बढ जाता है और व्यक्ति का मस्तिष्क ब्रेन डेड होने से बच सकता है और यदि ब्रेन डेड होने से बच गया तो काफी हद तक व्यक्ति को बचाया जा सकता है। इस अवसर पर प्राथमिक तौर पर बताया कि पहले प्राथमिक उपचार देें व एम्बुलेस को फोन करके बुलावे जब तक एम्बुलेस या विशेषज्ञ आये तब तक व्यक्ति को इस तरह के कार्य से बचाया जा सकता है । इसके साथ ही उनकी टीम में आये पंकज मिश्रा एवं साथियंों ने डेमो के पुतले से इसका विधिवत प्रशिक्षण दिया। चिकित्सालय स्टाफ की नर्स प्रमिला कांत ने बताया कि यह बहुत ही अच्छी कार्यशाला थी जिसका लाभ यहां पर  मिला है वही मरीज के साथ आये उनके परिजन महिला ने बताया कि वह यहां पर आई तो किसी पुतले को दबा रहे थे तो वह भी देखने लगी तो डाक्टर साहब ने इसकी जानकारी दी  िकइस तरह से किसी मरणासन्न व्यक्ति या दुर्घटना के वक्त बेहोशी में आ रहे व्यक्ति की जान बचायी जा सकती है। जिला चिकित्सालय के डॉ. अशोक वर्मा ने बताया कि बेसिक लाईफ सपोर्ट पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया था जिसमे यहां के चिकित्सालय स्टाफ, मरीजों के परीजन व पुलिस के जवान ने भी प्रशिक्षण प्राप्त किया है। इस अवसर पर रायपुर नारायणा हास्पीटल से आये पकज मिश्रा,अरूण सोमन, गिरधर साहू, राहुल लहरे, जिला चिकित्सालय से डॉ. स्वाति यदु, विनोद साहू मोनिका ,निर्मला, नीलू, बरखा गायत्री मरीजों के परिजन मोगरा बाई, हीरामती नागेश सहित लोग उपस्थित थे।