breaking news New

अरामको पर ड्रोन हमले ईरान ने करवाए हैं : अमेरिका

अरामको पर ड्रोन हमले ईरान ने करवाए हैं : अमेरिका

अरामको, 15 सितंबर। सऊदी अरब की सरकारी तेल कंपनी अरामको की दो तेल रिफाइनरियों पर हुए हमले के लिए अमेरिका ने ईरान को जिम्मेदार ठहराया है. अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने कहा है कि ईरान ने दुनिया भर में तेल सप्लाई रोकने के लिए ये ड्रोन हमले करवाए हैं.

माइक पोंपियो ने एक ट्वीट में लिखा, ‘सऊदी अरब पर लगभग 100 हमलों के लिए तेहरान जिम्मेदार है जबकि हसन रूहानी (ईरानी राष्ट्रपति) और जवाद ज़रीफ (ईरानी विदेश मंत्री) कूटनीति में शामिल होने का दिखावा करते हैं. तनाव घटाने की सभी मांगों के बीच, ईरान ने अब दुनिया की ऊर्जा आपूर्ति पर एक अप्रत्याशित हमला किया है. इन हमलों में यमन का हाथ होने के कोई सबूत नहीं हैं.’

शनिवार तड़के सऊदी अरब की तेल कंपनी सऊदी अरामको के दो तेल रिफानरियों पर ड्रोन से हमला किया गया था. यमन के ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है. अल मसीरा टीवी के मुताबिक हूती विद्रोहियों ने बड़े पैमाने पर ऑपरेशन शुरू किया जिसमें 10 ड्रोन शामिल थे.

अरामको दुनिया के सबसे बड़े ऑयल प्रोसेसिंग प्लांट के रूप में जानी जाती है. यही वजह है कि इस हमले से सऊदी अरब में तेल सप्लाई पर काफी असर पड़ा है और तेल की कीमतें भी बढ़ने लगी हैं. मध्य पूर्व के कई देशों में तेल की कीमतों में और इजाफे की आशंका जताई जाने लगी है.