मशहूर रंगकर्मी सत्यजीत भट्टाचार्य का निधन

मशहूर रंगकर्मी सत्यजीत भट्टाचार्य  का निधन

रायपुर/जगदलपुर, 27 सितंबर। बस्तर के प्रसिद्ध रंगकर्मी सत्यजीत भट्टाचार्य ( बापी दा ) का निधन हो गया है. वो पिछले 6 महीने से बोन कैंसर से पीड़ित थे. 58 साल के सत्यजीत भट्टाचार्य बीती रात शनिवार को 1 बजे अंतिम सांस ली. उन्हें उनके प्रशंसक बापी दा के नाम से पुकारते थे. उनके निधन की खबर से कलाकारों में शोक की लहर है. नाट्यश्री, नाट्यभूषण, नाट्यरत्न जैसे कई पुरस्कारों से सम्मानित इस कलाकार का असमय चला जाना अंचल के लिए अपूरणीय क्षति है।

9 मई 1963 को जन्मे सत्यजीत भट्टाचार्य अंचल के लोकप्रिय रंगकर्मी के रुप में प्रतिष्ठित थे। पेशे से कुशल फोटोग्राफर होने के साथ साथ ही वे बेस्ट वीडियो ग्राफर, मूर्तिकार, मेकअप आर्टिस्ट, सिंगर सब थे। उन्होंने अभियान संस्था के जरिए बस्तर को अन्तरराष्ट्रीय पहचान दिलाई। बस्तर के कलाकारों को हिन्दूस्तान के बड़े मंच प्रदान करने मे उनकी उपयोगिता को विस्मृत कर पाना असम्भव है। सत्यजीत भट्टाचार्य ने सौ नाटकों के निर्देशन के साथ ही 5 हजार नाटकों में मंचन किया था। वहीं बस्तर में पिछले कई वर्षों से नाट्य परब का आयोजन भी करते आए थे। इस परब की खासियत यह थी कि राज्य ही नहीं देशभर से लोग इसमें शामिल होने आते थे। 

उन्हें कई बांग्ला नाटकों में अभिनय करते देखा गया था। पुरानी और नई पीढ़ी जोड़े रखने का श्रेय उन्हें जाता है। शिक्षा के क्षेत्र में भी उनका दखल था। एनसीएसटीसी नेटवर्क वे मध्यप्रदेश छत्तीसगढ़ के प्रमुख थे।