सफलता की कहानी: आमचो बस्तर कैंटिन, नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवार के सदस्यों को मिला रोजगार का अवसर

सफलता की कहानी: आमचो बस्तर कैंटिन, नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवार के सदस्यों को मिला रोजगार का अवसर

जगदलपुर, 7 अगस्त। राज्य सरकार द्वारा नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवारों को पुनर्वास नीति के तहत् मुआवजा राशि और रोजगार के अवसर मुहैया कराती है। इसी प्रयास में जिला प्रशासन बस्तर द्वारा जिले में नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवार के सदस्यों को रोजगार का अवसर प्रदान किया है। आमचो बस्तर कैंटिन के नाम से चलित कैंटिन संचालन करने का दायित्व उनको दिया गया है। जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में नगर निगम के द्वारा स्वास्थ्य विभाग की कंडम हुई एंबुलेंस को माॅडीफाई कर मोबाइल कैंटिन के रूप बनाया। इस मोबाइल कैंटिन को संचालन का दायित्व नक्सल प्रभावित परिवार के सदस्यों को समूह के रूप में दिया गया है। इस आमचो बस्तर कैंटिन को शहर के मध्य स्थित चैपाटी में स्थानीय व्यंजनों का विक्रय करने के लिए जगह दी गई।

नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवारों ने गांव छोड़कर शहर की ओर रूख किए उनमे जीने की ललक और रोजगार की चाहत को देखते हुए जिला प्रशासन ने कैंटिन संचालन के लिए इस समूह को आवश्यक प्रशिक्षण दिया गया है। इसमें लगभग 10 सदस्यों का समूह है।