breaking news New

वर्षों पुरानी परम्परा टूटेगी, सिटी कालीबाड़ी में नहीं होगी प्रतिमा स्थापित

वर्षों पुरानी परम्परा टूटेगी, सिटी कालीबाड़ी में नहीं होगी प्रतिमा स्थापित


कोरोना संक्रमण के चलते आयोजन समितियों ने लिया निर्णय

रायपुर, 21 अक्टूबर। रायपुर सिटी महाकालीबाड़ी एवं विश्वनाथ मंदिर समिति गोविंद नगर में इस वर्ष किसी प्रकार का सार्वजनिक आयोजन नहीं किया जाएगा। सिर्फ कलश स्थापना के साथ माँ की आराधना की जाएगी। किसी प्रकार का जुलूस और भव्य समारोह भी आयोजित नहीं किया जाएगा। समिति का कहना है कि इस वर्ष कोरोना संक्रमण को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। शासन की गाइडलाइन के अनुसार ही कार्यक्रम सम्पन्न कराए जाएंगे।

रायपुर सिटी महाकालीबाड़ी में नवदुर्गा उत्सव लगभग 59 वर्षों से निरन्तर भव्यता के साथ मनाया जा रहा था। इस वर्ष इस आयोजन पर कोरोना का संकट मँडरा रहा है। जिसके कारण पूजा पंडालों में वो रौनक देखने को नहीं मिलेगी, जो हर साल देखने को मिलती थी और जिसका प्रत्येक श्रद्धालु को इन्त़जार रहता था।

अध्यक्ष दिप्तेश तरूण चटर्जी व महासचिव गौतम मजूमदार ने संयुक्त रूप से जानकारी देते हुए बताया कि समिति की बैठक में कोविड -19 महामारी के कारण इस वर्ष शारदीय दुर्गोत्सव के डायमण्ड जुबली वर्ष के सारे आयोजन को रद्द कर दिया गया है। समिति द्वारा इस वर्ष न ही माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित की जायेगी और न ही आकर्षक पंडाल सजाया जायेगा। समिति द्वारा इस वर्ष प्रतीकात्मक रूप से घट / कलश पूजा किया जाएगा। पुष्पांजली, भोग भंडारा व सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा। अध्यक्ष व महासचिव ने कहा कि आगामी वर्ष डायमण्ड जुबली उत्सव वर्ष के रूप में मनाया जाएगा। शासन द्वारा जारी किये गए दिशा निर्देशों का पूर्णत: पालन किया जाएगा।