कलेक्टर के बंगले के सामने धरने पर बैठा एसडीएम, पत्नी और बच्चे ने दिया साथ, सहयोगियों पर भ्रष्टाचार का आरोप

कलेक्टर के बंगले के सामने धरने पर बैठा एसडीएम, पत्नी और बच्चे ने दिया साथ, सहयोगियों पर भ्रष्टाचार का आरोप
लखनउ. प्रतापगढ़ में डीएम सहित कई अधिकारियों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए अतिरिक्त एसडीएम विनीत उपाध्याय शुक्रवार को परिवार के साथ धरने पर बैठ गए। डीएम ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन वह नहीं माने। कई एसडीएम व पुलिस अफसरों को मौके पर बुलाया गया। एसडीएम को समझाने में सभी असफल रहे। अतिरिक्त एसडीएम विनीत उपाध्याय डीएम कैंप कार्यालय पहुंचे।

उनके साथ पत्नी और बच्चा भी था। अतिरिक्त एसडीएम ने डीएम डॉक्टर रूपेश कुमार, एडीएम शत्रोहन वैश्य और लालगंज के पूर्व एसडीएम मोहनलाल गुप्ता पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए।  इसके साथ ही लालगंज के एक कॉलेज प्रबंधक के फर्जीवाड़े को दबाने का आरोप भी एसडीएम ने डीएम और एड़ीएम पर लगाया। एसडीएम का कहना है कि उक्त अधिकारी भ्रष्टाचार कर रहे हैं। इसके साथ ही मातहतों के भ्रष्टाचार को दबाने के प्रयास में हैं।

अतिरिक्त एसडीएम के धरने की सूचना पर पहुंचे मीडियाकर्मियों को डीएम आवास के बाहर ही रोक दिया गया। डीएम धरना शुरू होते ही आवास छोड़कर चले गए। दूसरी तरफ सपा कार्यकर्ताओं की भीड़ एसडीएम के समर्थन में डीएम आवास पहुंची। सपा कार्यकर्ताओं को भी मुख्य गेट के बाहर ही रोक दिया गया। इस पर कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे। फिलहाल प्रशासन में इसे लेकर चर्चा जारी है और शाम होने तक धरना समाप्त नही हुआ था.