breaking news New

वर्ल्ड विजन इंडिया का चाइल्ड वेल-बीइंग सूचकांक प्रकाशित

वर्ल्ड विजन इंडिया का चाइल्ड वेल-बीइंग सूचकांक प्रकाशित

नई दिल्ली, 25 नवंबर। बाल केंद्रित मानवीय संगठन वर्ल्ड विजन इंडिया ने बुधवार को इंडिया चाइल्ड वेल-बीइंग सूचकांक रिपोर्ट का दूसरा संस्करण प्रकाशित किया।

वर्ल्ड विजन इंडिया ने आज यहां जारी विज्ञप्ति में बताया कि यह रिपोर्ट अन्य बाल-केंद्रित निदेशकों पर डाटा देती हैं और नौ आयामों जीवन, शारीरिक सेहत, शारीरिक समग्रता, बौद्धिक, कल्पना, सोच, भावनाएँ, व्यावहारिक कारण, संबद्धता, खेल और व्यक्ति का किसी परिवेश पर नियंत्रण द्वारा विश्लेषण करती है।

इस अवसर पर रिपोर्ट जारी करते हुए देश के मुख्य आर्थिक सलाहकार कृष्णमूर्ति वी. सुब्रमणियम ने कहा, “हमारी सरकार बच्चों के अधिकारों और भलाई के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध है। बाल विकास को प्राथमिकता देने पर अर्थव्यवस्थाएं बढ़ती हैं। वास्तविक समय संकेतक के एक सेट के साथ जिलों के आंकड़े को ट्रैक करना स्वस्थ प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देगा और प्रत्येक जिले को निर्धारित जनादेश प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करेंगे। मैं सरकारी डाटा का उपयोग करते हुए इस चर्चा को शुरू करने के लिए वर्ल्ड विजन इंडिया को बधाई देता हूं।”

इस अवसर पर वर्ल्ड विजन इंडिया के मुख्य कार्यकारी और राष्ट्रीय निदेशक माधव बेल्लमकोंडा ने कहा, “बाल विकास के शुरुआती दौर में निवेश हमारे बच्चों के बेहतर कल के लिए जरुरी है, खास तौर से ऐसे समय पर जहाँ अनिश्चितता और बढ़ गयी है। चाइल्ड वेल-बीइंग विकास के क्षेत्र में संवाद का एक अहम विषय है और यह अत्यंत आवश्यक है कि हम इसे समग्र रूप में समझें। हमें विश्वास है कि यह रिपोर्ट नीति निर्माताओं, चिकित्सकों और नागरिक समाजों के लिए बाल कल्याण को समझने और बाल अनुकूल नीतियों को विकसित करने के लिए एक मार्गदर्शक के रूप में काम करेगी।”