breaking news New

first.flash : अब पार्षद चुनेंगे महापौर और अध्यक्ष, राज्यपाल ने अध्यादेश को दी मंज़ूरी

first.flash : अब पार्षद चुनेंगे महापौर और अध्यक्ष, राज्यपाल ने अध्यादेश को दी मंज़ूरी

भोपाल. खबर मध्य प्रदेश से आ रही जहां राज्यपाल ने उस अध्यादेश को मंजूरी दे दी है जिसके तहत राज्य सरकार महापौर और नगरीय निकायों के अध्यक्ष का चुनाव अप्रत्यक्ष तरीके से करायेगी. राज्यपाल लालजी टंडन ने राज्य सरकार के नगरीय निकाय अध्यादेश को मंज़ूरी दे दी है. इस प्रणाली में अब महापौर और अध्यक्ष का चुनाव पार्षद करेंगे.

मालूम होवे कि मध्य प्रदेश में अब महापौर और नगरीय निकायों के अध्यक्ष अप्रत्यक्ष प्रणाली से चुने जाएंगे. राजभवन के सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक,कमलनाथ सरकार के अध्यादेश को राज्यपाल लालजी टंडन ने मंज़ूरी दे दी है. इस पूरे मामले को लेकर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सोमवार शाम राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की थी. दोनों के बीच करीब आधे घंटे चर्चा हुई थी.

दूसरी ओर इस पूरे मामले को लेकर कांग्रेस सांसद विवेक तन्खा के ट्वीट के बाद राज्यपाल सरकार से खफा बताए जा रहे थे. लेकिन राज्यपाल की नाराज़गी दूर करने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उनसे मुलाक़ात की थी. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विवेक तन्खा के उस बयान को भी उनकी निजी राय बताया था जिसमें उन्होंने राज्यपाल को सलाह दी थी कि सरकार की अनुशंसा पर राज्यपाल फैसला करें.

इस फैसले के बाद संभावना जताई जा रही है कि छत्तीसगढ़ सरकार भी ऐसा ही अध्यादेश ला सकती है जिसके तहत निर्वाचित पार्षद ही अपना महापौर और अध्यक्ष चुनेंगे. पहले इस तरह के कयास सामने आए थे जिसका मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खण्डन कर चुके हैं परंतु पार्टी का एक धड़ा इसका हिमायती बताया जा रहा है. वह चाहता है कि अध्यादेश लाकर यह रास्ता साफ किया जाए कि पार्षद ही अपना महापौर और अध्यक्ष चुनेंगे.