breaking news New

चैंबर आफ कॉमर्स का चुनाव कराने का फैसला, कैट' के 65 हजार सदस्यों को साधना बड़ी चुनौती, अमर पारवानी लड़ सकते हैं चुनाव

चैंबर आफ कॉमर्स का चुनाव कराने का फैसला, कैट' के 65 हजार सदस्यों को साधना बड़ी चुनौती, अमर पारवानी लड़ सकते हैं चुनाव

जनधारा संवाददाता
रायपुर. छत्तीसगढ़ चैंबर आफ कॉमर्स के चुनाव की घोषणा हो गई। रायपुर में आज हुई चेंबर आफ कॉमर्स की बैठक में कार्यकारिणी सदस्यों ने इसकी सहमति दे दी। बैठक में सदस्यों ने एक चुनाव अधिकारी भी तय कर दिया। चुनाव अधिकारी आगे चुनाव की तारीख और चुनाव की प्रक्रिया तय करेंगे.

चैंबर आफ कॉमर्स के अध्यक्ष जितेंद्र बरलोटा के अनुसार चैंबर आफ कामर्स में लगभग 17 हजार सदस्य हैं। पहली बार कोरोना वायरस के प्रसार रोकने इस बार जिलों में ही मतदान करवाया जाएगा। जिन जिलों में 500 से अधिक सदस्य होंगे। उनका संबंधित जिले में मतदान प्रक्रिया होगी। बता दें कि चैैबर आफ कामर्स का कार्यकाल 3 साल का होता है। इस कार्यकारिणी का कार्यकाल 19 दिसंबर को समाप्त होगा। जिसमें प्रदेश स्तर पर अध्यक्ष, उपाध्यक्ष, कोषाध्यक्ष और जिला स्तर पर उपाध्यक्ष और मंत्री का चुनाव होना है।

शिवराज भंसाली को निर्वाचन पदाधिकारी नियुक्त किया गया है। प्रदेश भर के जिला मुख्यालयों में ही मतदान कराने का सुझाव व्यापारियों ने दिया है। फिलहाल चुनाव व मतदान की तारीखों का ऐलान निर्वाचन अधिकारी करेंगे। वर्तमान अध्यक्ष जितेंद्र बरलोटा का कार्यकाल दिसंबर माह में समाप्त हो रहा है। इसे देखते हुए दिसंबर से जनवरी माह में ही चुनाव कराने का सर्वसहमति से निर्णय लिया गया।

चैम्बर उपाध्यक्ष राजकुमार राठी ने तय सीमा में बरलोटा से चुनाव कराने की घोषणा करने का स्वागत करते हुए कहा है कि व्यापारी हित को लेकर वापस चैम्बर के माध्यम से समस्याओं का निराकरण होगा।


कैट' से अमर पारवानी को लड़ाने की तैयारी!



चैंबर आफ कॉमर्स की तरह ही व्यापारियों की एक राष्ट्रीय संस्था है जिसे कैट' कहा जाता है. इसकी इकाई छत्तीसगढ़ में सक्रिय है जिसके प्रमुख कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी हैं. पारवानी ने कैट को बहुत तेजी से व्यापारियों के बीच लोकप्रिय और विश्वसनीय बनाया है. उन्होंने राष्ट्रीय और प्रादेशिक स्तर पर कई आंदोलन किए तथा प्रशासन और सरकार के साथ मिलकर व्यापारियों के हित में कई फैसले कराए हैं. फिलहाल पारवानी इस मुहिम में लगे हैं कि त्यौहारों के मौसम में व्यवसाय करने का समय रात्रि 11 बजे तक किया जाए. रायपुर और बिलासपुर में यह लागू भी हो गया है. अब वे प्रदेश में लागू कराने के लिए संघर्ष कर रहे हैं. कुछ व्यापारियों ने यह भी कहा कि चैम्बर आफ कॉमर्स का जरूरत से ज्यादा राजनीतिकरण ने व्यापारियों को कैट' की ओर झुकने को मजबूर किया है. चैम्बर आफ कॉमर्स का चुनाव होता है तो अध्यक्ष कौन बनेगा, इसमें कैट' का रूख भी मायने रखेगा. उसके प्रदेश में 65 हजार सदस्य हैं. कैट के कार्यकारिणी अध्यक्ष विक्रम सिंहदेव ने कहा कि हमारे प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी को बड़ा समर्थन मिल रहा है और उन्हें चुनाव लड़ने के लिए व्यापारी अपना समर्थन भी दे रहे हैं.