मध्यप्रदेश की डायरी: भोपाल ब्यूरो चीफ प्रणब पारे की कलम से (रहा किनारे बैठ) अब अभिलाषु एकु मन मोरें। पूजिहि नाथ अनुग्रह तोरें॥

मध्यप्रदेश की डायरी: भोपाल ब्यूरो चीफ  प्रणब पारे की कलम से (रहा किनारे बैठ) अब अभिलाषु एकु मन मोरें। पूजिहि नाथ अनुग्रह तोरें॥


राम नाम की लूट- राम मंदिर का शिलापूजन क्या हुआ मध्यप्रदेश में भी राम नाम की लूट मच गई, कांग्रेस के सज्जन सिंह वर्मा ने इसे गौरवपूर्ण क्षण बताया और कहा राजीव गांधी का स्वप्न पूरा हुआ वही प्रदेश कांग्रेस कमेटी के दफ्तर में भगवान श्री राम का बड़ा सा होर्डिंग सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ। लोगो ने खूब चुटकी ली और लिखा ये तो वक्त-वक्त की बात है। कमलनाथ के साथ कई कांग्रेसी नेता भगवामय हो गए, कमलनाथ के घर पर हनुमान चालीसा का पाठ हुआ, उन्होंने चांदी की ग्यारह शिलाएं भी जन्मभूमि के लिए रवाना कर दी। तुलसी बाबा ने अब कुछ गलत तो लिखा नही
पुनि न सोच तनु रहउ कि जाऊ। जेहिं न होइ पाछें पछिताऊ॥