राजवाड़ा के अंदर नशे का विरोध करने पर प्रतिष्ठित व्यवसायी पर जानलेवा हमला - जावेद खान

राजवाड़ा के अंदर नशे का विरोध करने पर प्रतिष्ठित व्यवसायी पर जानलेवा हमला - जावेद खान

लड़कियाँ भी धड़ल्ले से कर रही शहर में महानगरों की तर्ज पर नशे का सेवन  

जगदलपुर, 26 सितंबर। बीती रात राजवाड़ा निवासी गुलशन माधवानी जो कि नगर के प्रतिष्ठित व्यवसाई भी हैं अपने घर के समीप इमली पेड़ के नीचे कुछ युवाओं को नशे का सेवन करते हुए पाया जिसका विरोध करने वह स्वयं इमली पेड़ के पास पहुंचे और उन नशेडियों को वहां से जाने को कहा जिस पर नशे में चूर नशेड़ीयों ने गुलशन पर जानलेवा हमला कर दिया और वहां से फरार होने लगे, लड़के तो फरार होने में कामयाब हो गये परंतु लड़कियों को वार्डवासियों ने धर दबोचा और पुलिस के हवाले कर दिया, प्रत्यक्षदर्शीयों ने बताया कि लडके तो लड़के लडकियाँ भी इतने नशे में थी के ठीक से पैरों पर खडी नहीं हो पा रही थी। 


राजबाडा परिसर नशेड़ीयों का पसंदीदा अड्डा बना हुआ है क्योंकि यह शहर के बीचोबीच है और परिसर के अंदर रौशनी का अभाव है, अंधेरे का फायदा उठाकर नशेडी बेखौफ यहाँ नशा करते हैं और विरोध करने वालों के ऊपर जानलेवा हमला करने से भी नहीं चूकते और अंधेरे का फायदा उठाकर भाग खडे होते हैं, पुलिस गस्त गाड़ी को दूर से आता देख अंधेरे में छुप जाते हैं!नगर पालिक निगम चुनाव के समय पार्षद प्रत्याशी ने राजबाडा निवासियों को राजबाडा परिसर के अंदर स्ट्रीट लाइट लगवाने और असामाजिक तत्वों पर रोक लगाने का वादा कर खूब वोंट बटोरा पर चुनाव जीतने के बाद समस्या जस की तस बनी हुई है,अनेको बार राजबाडा निवासियों के द्वारा पार्षद दिप्ती पान्डे को स्ट्रीट लाइट लगवाने के लिए गुहार लगा चुके हैं पर पार्षद के कानों में अब जू तक नहीं रेंगती और इसका फायदा नशेडी उठा रहे हैं अब लड़के तो लड़के लडकियाँ भी नशे का सेवन करने जमावड़ा लगाने लगी हैं! 

विदित हो कि पिछले वर्ष भी 5 सितंबर की रात नशे का विरोध करने पर शहर के एक युवा नेता की हत्या नशेड़ीयों ने कर दी थी, जिसके बाद जगदलपुर के युवाओं ने नगर में नशा मुक्ति अभियान चला कर पुलिस प्रशासन पर दबाव बनाया था और एक हद तक शहर से नशीली दवाओं के कारोबार में लिप्त लोगों पर कार्यवाही करने पुलिस विभाग को मजबूर किया था परिणामस्वरूप शहर से नशीली दवाओं के व्यापार पर पुलिस प्रशासन बहोत हद तक कामयाब भी हुई थी! 

नशा मुक्ति अभियान के संस्थापक जावेद खान ने बताया कि शहर में फिर से नशे के कारोबार में लिप्त लोग सक्रिय हो गये हैं,और घूम घूम कर नशीली गोलियां, नशीली सीरप बेच रहे हैं, पकड़े ना जाने के कारण युवा मदिरापान की जगह नशीली दवाओं का सेवन कर रहे हैं और इसका विरोध करने वालों पर जानलेवा हमला करते हैं,पुलिस विभाग को इस कारोबार से जुड़े लोगों पर बड़ी कार्यवाही करने की आवश्यकता है, समय रहते इस पर अंकुश नहीं लगाया गया तो शहर में पुनः अप्रिय घटना जल्द ही घटेगी, जावेद ने कहा जल्द ही पुलिस अधीक्षक बस्तर से इस गंभीर विषय पर चर्चा करने एक डेलिगेशन बना कर मुलाकात की आएगी।