breaking news New

भारत टेस्टिंग के मामले में आत्मनिर्भर, कोरोना से जंग में हुई तारीफ

भारत टेस्टिंग के मामले में आत्मनिर्भर, कोरोना से जंग में हुई तारीफ

नई दिल्ली।  विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने भारत की कोरोना वायरस के खिलाफ जंग के प्रयासों की प्रशंसा की है। साथ ही WHO का कहना है कि भारत को अब कोरोना वायरस से जुड़े डेटा मैनेजमेंट पर भी फोकस करना चाहिए। भारत की सबसे बड़ी समस्या विशाल जनसंख्या और भौगोलिक विविधता है। इसलिए डेटा इकट्ठा करना और जरूरी हो जाता है।

भारत सरकार की मजबूत राजनीतिक नेतृत्व की तारीफ की। भारत ने कोरोना वायरस की महामारी में टेस्टिंग से लेकर उसे बड़े स्तर तक ले जाने तक अच्छी भूमिका अदा की है। साथ ही भारत ने कोरोना वायरस के संक्रमण के साथ चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन लगाया और फिर उसी तरीके से अनलॉक किया है।

WHO की चीफ साइंटिस्ट डॉ. सौम्या स्वामीनाथन ने कहा है कि आज भारत प्रतिदिन 2 लाख से अधिक कोरोनो टेस्ट कर रहा है। साथ ही भारत टेस्टिंग किट भी विकसित कर रहा है। भारत टेस्टिंग के मामले में आत्मनिर्भर हुआ है। और इसे आगे बढ़ा भी रहा है। मगर अब भारत को कोरोना से जुड़े डेटा पर भी खास फोकस करना होगा।