breaking news New

प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापसी कर सकती है BJP-शिवसेना

प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में वापसी कर सकती है BJP-शिवसेना

नई दिल्ली, 22 सितंबर। महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव की तारीखों के ऐलान के बाद आए एक ओपिनियन पोल ) के मुताबिक राज्य में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन फिर से सरकार बनाते दिख रही है. वहीं, कांग्रेस और एनसीपी  के लिए एक बार फिर मुश्किलें हो सकती हैं. अगर बीजेपी-शिवसेना एक साथ चुनाव लड़ते हैं तो 205 सीटों पर जीत की संभावना है. वहीं, देवेंद्र फडणवीस अभी भी मुख्यमंत्री पद के लिए पहली पसंद बने हुए हैं. राज्य में पानी और बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या है.

एबीपी न्यूज/सी-वोटर के ओपिनियन पोल के मुताबिक, 288 सीटों वाली महाराष्ट्र विधानसभा में बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को दो तिहाई से भी अधिक सीटें मिलती हुई दिख रही हैं. इस गठबंधन को 205 सीटें मिल सकती हैं. दूसरी तरफ, कांग्रेस-एनसीपी को 55 और अन्य के खाते में 28 सीटें जा सकती हैं. वहीं, वोट प्रतिशत की बात करें तो बीजेपी-शिवसेना को 46, कांग्रेस को 30 और अन्य को 24 प्रतिशत वोट मिल सकते हैं.

अलग चुनाव लड़ने की स्थिति में शिवसेना को भारी नुकसान

अगर राज्य में बीजेपी और शिवसेना साथ में चुनाव नहीं लड़ती हैं तो इस स्थिति में उद्धव ठाकरे की पार्टी को बड़ा नुकसान हो सकता है. ओपिनियन पोल के मुताबिक, सभी दल अकेले चुनाव में जाते हैं तो बीजेपी को 144, शिवसेना को 39, कांग्रेस को 21, एनसीपी को 20 और अन्य को 64 सीटों पर जीत मिल सकती है.

मुख्यमंत्री के रूप में देवेंद्र फडणवीस अभी भी पहली पसंद बने हुए हैं. ओपिनियन पोल के आकड़ों के मुताबिक, फडणवीस 39, उद्धव ठाकरे 6, अशोक चव्हाण 5 और शरद पवार 5 प्रतिशत लोगों की पसंद हैं. वहीं, इस विधानसभा चुनाव में महराष्ट्र में सबसे बड़ा मुद्दा पानी का है. इसके बाद बेरोजगारी, किसानों की समस्या और सड़क प्रमुख मुद्दा है.

पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन नहीं हो पाया था. दोनों दल अलग-अलग चुनाव लड़े थे, वहीं कांग्रेस-एनसीपी भी अकेले मैदान में थे. साल 2014 के चुनाव में महाराष्ट्र की 288 सीटों में से बीजेपी 122, शिवसेना 63, कांग्रेस 42, एनसीपी 41 और अन्य 20 सीट जीतने में कामयाब रहे थे. इस बार महाराष्ट्र में 21 अक्टूबर को मतदान होगा और इसके तीन दिन बाद 24 अक्टूबर को नतीजे आएंगे.