breaking news New

Covid 19 : ये दवा बन सकती है गेमचेंजर

Covid 19 : ये दवा बन सकती है गेमचेंजर

कोरोना वायरस से जंग के बीच ब्रिटेन से एक राहत देने वाली खबर सामने आई है. 'डेक्सामेथासोन स्टेरॉयड' के 'लार्ज रैंडमाइज्ड क्लिनिकल ट्रायल' की फाइनल रिपोर्ट सामने आ चुकी है. शुक्रवार को जारी इस रिपोर्ट के मुताबिक, ड्रग से कोरोना संक्रमित रोगियों की हालत में सुधार के नतीजे सामने आए हैं. 'न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन' में शुक्रवार को प्रकाशित हुई इस स्टडी के मुताबिक, हाई रिस्क स्टेज के संक्रमित रोगियों पर इस दवा का अच्छा असर देखने को मिला है. वेंटिलेटर्स पर पहुंचे कोविड-19 के मरीजों की हालत में सुधार लाने के लिए यह दवा काफी मददगार साबित हुई है. हालांकि, स्टडी में यह भी कहा गया है कि प्रथम चरण में रोगियों को यह दवा नहीं दी जानी चाहिए. शुरुआती स्टेज पर इसके इस्तेमाल से रोगी की जान को खतरा हो सकता है.

दवा पर शोध के लिए कुल मिलाकर 2,104 कोविड-19 के रोगियों को चुना गया था, जिन्हें लगभग 10 दिनों तक रोजाना 6 मिलीग्राम डोज दी गई थी. जबकि 4,321 मरीजों को सामान्य केयर यूनिट में रखा गया था. चार हफ्ते यानी 28 दिन बाद इनके बीच डेथ रेट की तुलना की गई. 28 दिन बाद शोधकर्ता इस नतीजे पर पहुंचे कि वेंटिलेटर पर रहने वाले कोविड-19 के मरीजों में डेक्सामेथासोन से मौत का जोखिम 36 प्रतिशत तक कम हुआ है. जबकि मैकेनिकल वेंटिलेशन के बिना ऑक्सीजन प्राप्त करने वाले मरीजों में 18 प्रतिशत खतरा कम हुआ.

वेंटिलेटर पर मौजूद जिन मरीजों को डेक्सामेथासोन दी गई थी, उनमें मौत का खतरा 29.3 फीसद था, जबकि दवा के बिना वेंटिलेटर पर रहने वाले 41.4 फीसद रोगियों की जान को खतरा था. जबकि वेंटिलेटर और ऑक्सीजन के बिना रहने वाले मरीजों में इसके विपरीत परिणाम देखे गए.

वेंटिलेटर और ऑक्सीजन के बिना रहने वाले जिस ग्रुप के मरीजों को डेक्सामेथासोन दी गई थी, उनमें मौत का जोखिम 17.8 प्रतिशत था, जबकि दवा के बिना केयर यूनिट में रहने वाले लोगों में मौत का जोखिम 14 प्रतिशत था.

स्टडी के मुताबिक, इससे साफ होता है कि वेंटिलेटर या ऑक्सीजन का इस्तेमाल ना करने वाले कोविड-19 के रोगियों पर दवा का कोई असर नहीं नहीं हुआ. 'यूएस नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ एलेर्जी एंड इंफेक्शन' के डॉ. एच. क्लिफोर्ड लेन और डॉ. एंथॉनी फॉसी ने कहा, 'इस शोध के परिणाम एक एच्छे डिजाइन और रैंडमाइज्ड कंट्रोल ट्रायल के महत्व को दर्शाते हैं.'