breaking news New

सीएम की कुर्सी 'रिजर्व', डेप्युटी सीएम पर शिवसेना करे फैसला: फडणवीस

सीएम की कुर्सी 'रिजर्व', डेप्युटी सीएम पर शिवसेना करे फैसला: फडणवीस

मुंबई। महाराष्ट्र और हरियाणा में विधानसभा चुनावों के ऐलान के साथ ही राजनीतिक दल अब अपनी-अपनी जीत के दावे करने लगे हैं। चुनाव शेड्यूल के ऐलान के बीच ही महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस ने भरोसा जताया है कि वह एक बार फिर से सीएम के तौर पर लौटेंगे। उन्होंने कहा कि शिवसेना के साथ गठबंधन को लेकर मतभेदों पर कहा कि हम निश्चित तौर पर साथ लड़ेंगे। हालांकि उन्होंने सीएम पद की शिवसेना की मांग को लेकर कहा कि यह रिजर्व है, लेकिन वह डेप्युटी सीएम पर फैसला कर सकती है।
बता दें कि अब तक शिवसेना महाराष्ट्र में बीजेपी के बराबर सीटों पर चुनाव लड़ने पर अड़ी थी, लेकिन अब 126 सीटों पर राजी होती दिख रही है। सूत्रों के मुताबिक बीजेपी के कोटे में 162 सीटें जा सकती हैं, हालांकि अन्य छोटे सहयोगियों को भी वह अपने ही खाते से सीटें देगी। एक तरफ देवेंद्र फडणवीस ने वापसी का भरोसा जताया है तो कांग्रेस का कहना है कि जनता बीजेपी को सत्ता से बाहर करने की तैयारी में है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा, 'महाराष्ट्र में किसान परेशान हैं। आत्महत्या का दौर विकराल स्थिति में है। वे सरकार बदलने का इंतजार कर रहे हैं। हरियाणा में कानून व्यवस्था खत्म हो चुकी है। वहां भी लोग बीजेपी सरकार को बाहर का रास्ता दिखाने की तैयारी में हैं।'
जल्द होगा सीट शेयरिंग का ऐलान
इसके अलावा डेप्युटी सीएम का पद शिवसेना को बीजेपी दे सकती है। आदित्य ठाकरे के विधानसभा चुनाव लड़ने पर सीएम ने कहा कि वह उनका राजनीति में स्वागत करते हैं और यह शिवसेना के लिए एक सकारात्मक डिवेलपमेंट है। शनिवार को एक टीवी चैनल के कार्यक्रम में फडणवीस ने बीजेपी और शिवसेना के संबंधों को लेकर किए गए सवालों के खुलकर जवाब दिए। सबसे पहले एक सवाल के जवाब में उन्होंने साफ किया कि वह आगामी विधानसभा चुनाव शिवसेना के साथ मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने बताया कि दोनों दलों के बीच सीट शेयरिंग का जल्द ऐलान किया जाएगा।
आदित्य ठाकरे के चुनाव लड़ने से खुश हैं सीएम
गौरतलब है कि बीते विधानसभा चुनाव में 25 साल में पहली बार दोनों दलों ने अलग-अलग चुनाव लड़ा था। सीएम से जब पूछा गया कि क्या चुनाव में बीजेपी के फिर सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री की कुर्सी उनके लिए रिजर्व है, तब उन्होंने कहा कि इसमें किसी को शक क्यों है। महाराष्ट्र के किसी भी व्यक्ति को इसे लेकर शक नहीं है। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे के वरली से चुनाव लड़ने की चर्चा पर सीएम ने कहा कि यह खुशी की बात है।
डेप्युटी सीएम पर शिवसेना करे फैसला
फडणवीस ने कहा कि बाला साहेब और उद्धव ठाकरे ने तय किया था कि वह सक्रिय राजनीति में नहीं उतरेंगे लेकिन अगर उद्धव ठाकरे सक्रिय राजनीति में आ रहे हैं तो यह एक सकारात्मक डिवेलपमेंट है। उन्होंने कहा कि वह अच्छी तरह से राजनीति में सक्रिय हो रहे हैं और मुझे इसकी बड़ी खुशी है। आदित्य को डेप्युटी सीएम बनाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह शिवसेना को तय करना है।
आदित्य पर पहले भी दे चुके हैं बयान
फडणवीस ने बताया कि वह जब कैबिनेट का आखिरी विस्तार कर रहे थे तब शिवसेना से पूछा गया था कि वह अगर किसी को उपमुख्यमंत्री बनाना चाहे तो बीजेपी को इससे इनकार नहीं होगा। इस पर शिवसेना ने समय कम होने का हवाला देते हुए यह प्रस्ताव इनकार कर दिया था। गौरतलब है कि सीएम पहले ही यह ऐलान कर चुके हैं कि वह एनडीए के सत्ता में आने पर आदित्य ठाकरे को डेप्युटी सीएम का पद देने के लिए तैयार हैं।