breaking news New

Twitter handle से बीजेपी हटाने पर Jyotiraditya Scindia ने दिया जवाब

Twitter handle से बीजेपी हटाने पर Jyotiraditya Scindia ने दिया जवाब


भोपाल। भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्विटर हैंडल से बीजेपी का नाम हटाने को लेकर मध्य प्रदेश की सियासत गर्मा गई है। आज सुबह से ही सिंधिया के ट्विटर हैंडल को लेकर सोशल मीडिया पर चर्चाओं का बाजार गर्म था। हालांकि सिंधिया ने कांग्रेस छोडऩे के बाद अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल पर बीजेपी के नाम का जिक्र कभी नहीं किया। लेकिन उनके ट्विटर हैंडल के स्क्रीन शॉट्स के साथ आज सुबह से ऐसी खबरें चल रही थीं कि उन्होंने बीजेपी का नाम हटा लिया है। इन सबके बीच सिंधिया ने इन अफवाहों का खंडन करते हुए ट्वीट किया है। सिंधिया ने अपने ट्वीट में ऐसी खबरों को झूठी करार दिया है। साथ ही कहा है कि सत्य के मुकाबले झूठी खबरें ज्यादा तेजी से फैलती हैं।

मध्य प्रदेश में 24 सीटों पर उपचुनाव की सरगर्मियों के बीच ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्विटर हैंडल को लेकर मचे बवाल से प्रदेश की सियासत गर्मा गई है। दरअसल, ऐसा पहली बार नहीं है जब सिंधिया के ट्विटर हैंडल को लेकर बवाल मचा है। कांग्रेस में रहते हुए ही जब उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल का प्रोफाइल बदला था, उस समय भी सियासी हलकों में चर्चाओं का दौर शुरू हुआ। इसके कुछ महीने बाद सिंधिया ने कांग्रेस छोड़कर बीजेपी ज्वाइन कर ली। अब जबकि मध्य प्रदेश में 24 सीटों पर उपचुनाव होने हैं, सिंधिया समर्थक विधायकों को टिकट देने या न देने को लेकर कश्मकश चल रही है, इन सबके बीच उनका ट्विटर हैंडल एक बार फिर चर्चा में है।

निकाले जा रहे राजनीतिक मायने

ज्योतिरादित्य सिंधिया के ट्विटर प्रोफाइल को लेकर सियासी मायने भी निकाले जाने लगे हैं। सोशल मीडिया से लेकर भोपाल और दिल्ली में यह चर्चा जोर-शोर से उठ रही है कि आखिर जिस नेता का बीजेपी में आने का स्वागत खुद पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह ने किया हो, वह अभी तक सोशल मीडिया पर खुद को बीजेपी का क्यों नहीं बता रहा है? इतना ही नहीं जिस नेता के आने के बाद मध्य प्रदेश की सियासत पूरी तरह बदल गई, बीजेपी की सत्ता में वापसी हो गई, शिवराज सिंह चौहान चौथी बार मुख्यमंत्री बन गए, उस नेता ने पार्टी ज्वाइन करने के बाद अपने ट्विटर प्रोफाइल से बीजेपी को दूर क्यों रखा है। ये कुछ ऐसे सवाल हैं जो आने वाले दिनों में एमपी की सियासत को गर्माए रखेंगे।