breaking news New

विधायक पति, सभापति के खिलाफ भाजपा नेता ने की थाने में शिकायत, जान से मारने की धमकी एवं मारपीट का आरोप, भाजपाई गुटबाजी सतह पर

विधायक पति, सभापति के खिलाफ भाजपा नेता ने की थाने में शिकायत, जान से मारने की धमकी एवं मारपीट का आरोप, भाजपाई गुटबाजी सतह पर


धमतरी. प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह के नगर आगमन पर सिहावा चौक में हुए धक्का-मुक्की, मारपीट के साथ जान से मारने की धमकी दिये जाने की शिकायत भाजपा कार्यकर्ता अविनाश दुबे ने सिटी कोतवाली धमतरी में दर्ज कराते हुए विधायक पति, सभापति नगर निगम, के विरूद्ध कार्यवाही की मांग की है।

इस मामले को लेकर शहर भाजपा में चर्चाओं का बाजार गर्म है। इससे स्पष्ट है कि संगठन की पकड़ पार्टी में नहीं है। इसी वजह से इतनी बड़ी घटना घटी है जिसकी शिकायत थाने तक पहुंच गई है। इस घटना को लेकर भाजपाईयों में भी काफी नाराजगी देखी जा रही है। हालांकि भाजपा के नेता खुलकर इस मामले में कुछ नहीं बोल रहे हैं, लेकिन दबी जुबान से इस घटना की निंदा कर रहे हैं। नाम न छापने की शर्त पर कुछ लोगों ने प्रतिनिधि को बताया कि भाजपा की संस्कृति हमेशा त्याग, तपस्या, बलिदान की रही है लेकिन कुछ लोग पार्टी पर अपना एकाधिकार जमाने की कोशिश कर रहे हैं जो कि पार्टीहित में नहीं है।
   
मिली जानकारी के अनुसार पता चला है कि इस घटना के पीछे उस बयान को लेकर मारपीट, जान से मारने की धमकी की नौबत आई है जिसमें निर्वाचित जनप्रतिनिधि द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री से मिलकर विपक्ष के द्वारा रेत खदान मांग है। आगामी दिनों में रेत खदान का ठेका होने वाला है और इसे लेकर सत्तापक्ष, विपक्ष के लोग निरंतर प्रयासरत हैं। 12 से 18 सितंबर तक रेत खदान ठेका की कार्यवाही संपादित होने के तारतम्य में यह खबर जब फैली कि एक निर्वाचित जनप्रतिनिधि ने मुख्यमंत्री से भेंट कर रेत खदान दिलाये जाने की मांग की है।

यह चर्चा जब समूचे शहर में पता चली और निर्वाचित जनप्रतिनिधि तथा उनके समर्थकों में पहुंची तो वे आगबबूला हो गये और जिस व्यक्ति ने यह खबर उड़ाई है, उसे तलाश किया गया। यह स्थिति अभी स्पष्ट नहीं हुई थी कि इसी अवधि में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह का धमतरी आगमन हो रहा था जिसे लेकर भाजपा नेता, कार्यकर्ता 3 सितंबर को हिंदुजा रेस्टोरेंट में एकत्र थे, इसी बीच विधायक पति डिपेंद्र साहू तथा निगम सभापति राजेंद्र शर्मा, राजा गुप्ता भी पहुंचे और अचानक वहां बैठे नेता, कार्यकर्ताओं में उपरोक्त चर्चित बातों को लेकर वाद विवाद प्रारंभ हुआ जो मारपीट, जान से मारने की धमकी तक जा पहुंचा. इसकी शिकायत 4 सितंबर 2019 को सिटी कोतवाली में दर्ज कराई गई है।
   
भाजपा कार्यकर्ता अविनाश दुबे द्वारा लिखित में प्रस्तुत शिकायत में बताया गया है कि 3.9.2019 को भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह का धमतरी आगमन को लेकर वे सिहावा चौक स्थित हिंदुजा रेस्टोरेंट में पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं के साथ जमा थे। जहां विधायक पति डिपेंद्र साहू, निगम सभापति राजेंद्र शर्मा, राजा गुप्ता भी उपस्थित थे जिन्होंने उससे मारपीट, जान से मारने की धमकी देते हुए उसे ट्रक के नीचे फेंकने की बात कही। चूंकि शिकायतकर्ता राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ रमन सिंह के स्वागत की तैयारी में लगा हुआ था, इस वजह से वह उसी दिन घटना की रिपोर्ट नहीं कर सका। अलबत्ता उसने 4.9.2019 को एक लिखित शिकायत देकर विधायक पति, सभापति एवं एक अन्य भाजपा नेता के विरूद्ध कार्यवाही की मांग की है। इतनी बड़ी घटना शहर के हृदय स्थल में घट जाने को लेकर भाजपा नेता, कार्यकर्ताओं में आश्चर्य है। इसे संगठन की पकड़ ढीली निरूपित करते हुए तरह-तरह की चर्चाएं शहर में व्याप्त हैं।

भाजपा के कुछ लोगों का तर्क है कि यह मामला नि:संदेह गलत है। कोई भी मामला पार्टी कार्यालय में होना चाहिये था, सार्वजनिक नहीं करना था। लेकिन जिस प्रकार से विधायक पति, सभापति आदि ने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट कर जान से मारने की धमकी दी है, उसे लेकर नाराजगी जाहिर की गई है।
   
उपरोक्त घटना को लेकर भाजपा जिलाध्यक्ष जगदीश रामू रोहरा से दूरभाष पर संपर्क किया गया और जानकारी ली गई तो उनका कहना था कि मैं इस मामले का संज्ञान लेकर दोनों पक्षों से बात करूंगा और जो भी वास्तविकता सामने आयेगी, उसकी जानकारी अपने वरिष्ठजनों को देकर उन पर कार्यवाही की अनुशंसा करूंगा। इधर जिनके विरूद्ध नामजद शिकायत की गई है, उनमें से एक निगम सभापति राजेंद्र शर्मा द्वारा घटना को असत्य बताते हुए उसे मिथ्या करार दिया गया है जबकि विधायक पति डिपेंद्र साहू से दूरभाष पर संपर्क करने का प्रयास किया गया तो उन्होंने इस संबंध में कुछ भी कहने से इनकार कर दिया।

जबकि इस प्रतिनिधि ने शहर के कुछ भाजपा नेताओं को इस घटना को लेकर उनकी प्रतिक्रिया जानने संपर्क करने का प्रयास किया गया लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया। इस संबंध में प्रार्थी अविनाश दुबे से दूरभाष पर प्रतिनिधि द्वारा चर्चा किये जाने पर उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा घटना के संबंध में थाने में शिकायत दर्ज करा दी गई है और मुझे यकीन है कि इस संबंध में मुझे न्याय मिलेगा वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष को भी इसके बारे में अवगत करा दिया है और उनके द्वारा भी उचित कार्यवाही का आश्वासन मुझे दिया गया है।

मारपीट की घटना को लेकर शहर के भाजपा कार्यकर्ताओं में एक-दूसरे पर आरोप लगाकर दोनों पक्ष अपना अपना पल्ला झाड़ रहे हैं। इधर भाजपा में इस घटना को लेकर काफी गहमागहमी का माहौल बना हुआ है। कुल मिलाकर इस घटना से भाजपा की पूर्व में चल रही गुटबाजी का तो पता चलता ही है, लेकिन अब सार्वजनिक स्थलों में मारपीट से भाजपा को काफी नुकसान होने की भी संभावना को नहीं नकारे जाने की बात संगठन के एक-दो पदाधिकारियों ने कही है। अब देखना है कि जिलाध्यक्ष इस मामले का पटाक्षेप करते हैं अथवा इस प्रकरण को रायपुर वरिष्ठ भाजपा नेताओं के पास भेजते हैं, यह जनचर्चा का विषय बना हुआ है।