breaking news New

Rahul Gandhi : धन्यवाद जयशंकर जी, थोड़ी सी कूटनीति हमारे प्रधानमंत्री जी को भी सिखा दें

 Rahul Gandhi : धन्यवाद जयशंकर जी, थोड़ी सी कूटनीति हमारे प्रधानमंत्री जी को भी सिखा दें

नई दिल्ली, 1 अक्टूबर।कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ‘अबकी बार ट्रंप सरकार’ विवाद को लेकर विदेश मंत्री एस जयशंकर के बयान पर पलटवार किया है. एक ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘हमारे प्रधानमंत्री की अक्षमता को ढकने के लिए धन्यवाद जयशंकर जी.’ राहुल गांधी ने उम्मीद जताई कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की टिप्पणी से अमेरिका की डेमोक्रेटिक पार्टी के बीच भारत को लेकर जो गंभीर समस्याएं पैदा हुई हैं वे दूर होंगी. कांग्रेस नेता का यह भी कहना था कि विदेश मंत्री प्रधानमंत्री को भी थोड़ी कूटनीति सिखाएं.

इससे पहले विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा था कि ‘अबकी बार ट्रंप सरकार’ शब्दों का इस्तेमाल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक खास संदर्भ में किया था. इन दिनों अमेरिका दौरे पर गए एस जयशंकर ने पत्रकारों कहा, ‘कृपया बहुत गौर से सुनिये जो प्रधानमंत्री ने कहा. जहां तक मुझे याद है प्रधानमंत्री ने कहा कि बतौर उम्मीदवार ट्रंप ने इस नारे को इस्तेमाल किया था. यानी प्रधानमंत्री अतीत के बारे में बात कर रहे थे. इसलिए ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं लगता कि हमें इसकी गलत व्याख्या करनी चाहिए.’

इससे पहले कांग्रेस ने आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 सितंबर को हाउडी मोदी कार्यक्रम के दौरान डोनाल्ड ट्रंप का चुनाव प्रचार किया. पार्टी नेता आनंद शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री को याद रखना चाहिए कि वे अमेरिकी चुनाव में स्टार प्रचारक बनकर नहीं गए हैं. हाउडी मोदी में डोनाल्ड ट्रंप का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति बनने से पहले ट्रंप के चुनाव प्रचार का ज़िक्र करते हुए कहा था, ‘भारत के लोग अच्छे से खुद को राष्ट्रपति ट्रंप के साथ जोड़ पाए हैं और कैंडिडेट ट्रंप के शब्द -अबकी बार ट्रंप सरकार - भी हमें स्पष्ट समझ में आए थे.

असल में 2016 में हुए राष्ट्रपति चुनाव से पहले डोनाल्ड ट्रंप ने एक वीडियो जारी किया था. इसमें उन्होंने भारतीय मूल के लोगों को दिवाली की शुभकामनाएं दी थीं. वीडियो के अंत में उन्होंने ‘अबकी बार ट्रंप सरकार’ नारा इस्तेमाल किया था. भारत में 2014 में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान भारतीय जनता पार्टी ने ‘अबकी बार मोदी सरकार’ का नारा दिया था और उसे जबर्दस्त जनादेश मिला था.