breaking news New

पितृपक्ष कल से, पितरों को याद कर तर्पण करने की परंपरा की शुरूआत की जायेगी

पितृपक्ष कल से, पितरों को याद कर तर्पण करने की परंपरा की शुरूआत की जायेगी

भाटापारा, 13 सितंबर। पितृपक्ष पर्व पर कल से पितरों को याद कर तर्पण करने की परंपरा की शुरूआत की जायेगी। पं. मनोज पांडे सांई नगर वाले ने बताया कि पितृपक्ष में पितरो को जल अर्पित किया जाता है। मृतात्माओं की शांति के लिए भिक्षुभेज से लेकर दान दक्षिणा भी किए जायेंगे। पितर को हिन्दू धर्म में खास मौके के रूप में गिना जाता है। लिहाजा वैदिक मंत्रोपचार के साथ पूजन हवन भी किए जाते हैं।

मृत्यु पश्चात घर के बड़े बुजुर्गो की याद में भेजन और उनकी पसंद की वस्तुए अर्पित की जाती है। लोक मान्यता है कि मृतात्माओं के सतत आशीर्वाद के लिए पितृपक्ष का विशेष महत्व है। पितृपक्ष में खास भेजन की मांग होती है जिसमें तोरइ की सब्जी, बरबट्टी से लेकर विशेष मुंग का बड़ा भी शामिल है। पितृपक्ष में नवमी के दिन को महिलाओं के लिए शुभ माना जाता है। मृत हो चुकी स्त्रियों को नमन करने के लिए इस दिन को उपयुक्त माना जाता है। 28  तक पितृपक्ष का तर्पण किया जायेगा तथा 28  को ही पितृमोक्ष विदाई दी जायेगी।