breaking news New

Breaking मास्क ना पहनने पर अब 200 जुर्माना, सोशल डिस्टेंसिंग कानून भी कड़ा होगा, मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम की बैठक, सीएम भूपेश बघेल भी शामिल हुए

Breaking मास्क ना पहनने पर अब 200 जुर्माना, सोशल डिस्टेंसिंग कानून भी कड़ा होगा, मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम की बैठक, सीएम भूपेश बघेल भी शामिल हुए

नयी दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ कोरोना को लेकर मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक के दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि मास्क पहनना अनिवार्य करना है और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने पर भी जोर देना है। दूसरी ओर छत्तीसगढ़ में अब मास्क ना पहनने पर जुर्माना 200 रूपये लगेगा. अभी तक यह सौ रूपये था.

प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों संग बैठक में शामिल हुए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से यह सुनिश्चित करने को कहा कि कोरोना वायरस बीमारी के कारण मृत्यु दर 1 फीसदी से कम हो और मामले वृद्धि की दर 5% से कम हो। अमित शाह ने मुख्यमंत्रियों को जो सबसे महत्वपूर्ण उपाय बताया वह था कि कंटेनमेंट जोन की रणनीति को नया रूप देना। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को हर हफ्ते रेड जोन का दौरा करना चाहिए और एकत्र किए गए आंकड़ों के आधार पर किसी विशेष क्षेत्र की स्थिति को बदलना चाहिए।

अमित शाह के बयान के बाद स्वास्थ्य सचिव ने आगामी दिनों की जानकारी देते हुए कहा कि दिल्ली, केरल, महाराष्ट्र और राजस्थान को विशेष सावधानी बरतनी पड़ेगी। स्वास्थ्य सचिव के बाद छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने अपनी बात रखी। उसके बाद दिल्ली और राजस्थान के सीएम ने अपनी बात रखी। दिल्ली के सीएम ने पीएम से कहा कि वो सफदरजंग अस्पताल में एक हजार बेड की व्यवस्था करवा दें, इससे दिल्ली को राहत मिलेगी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर कोविड-19 की ताजा स्थिति की समीक्षा की जहां हाल के दिनों में संक्रमण के मामलों में तेजी आई है। इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन के अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बधेल और गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने हिस्सा लिया।

प्रधानमंत्री मोदी कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा के लिए अब तक कई बार राज्यों के साथ बैठकें कर चुके हैं। देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले पिछले कुछ दिनों से 50,000 के नीचे आ रहे हैं, वहीं कुछ राज्यों में मामले तेजी से बढ़े हैं। कुछ शहरों में तो रात का कर्फ्यू भी लगाया गया है।