हिंदी साहित्य भारती छत्तीसगढ़ द्वारा राष्ट्रीय तरंग संगोष्ठी का आयोजन 27 को

हिंदी साहित्य भारती छत्तीसगढ़ द्वारा राष्ट्रीय तरंग संगोष्ठी का आयोजन 27 को

राजभाषा के महत्व को जन-जन तक प्रसारित करने के उद्देश्य से हिंदी पखवाड़ा के अंतर्गत 27 सितंबर दिन रविवार को समय शाम 4:30 बजे से 6 बजे तक राष्ट्रीय तरंग संगोष्ठी का आयोजन हिंदी साहित्य भारती छत्तीसगढ़ द्वारा किया जा रहा है। राष्ट्रीय संगोष्ठी के संयोजक हिंदी साहित्य भारती छत्तीसगढ़ के सदस्य अजय कुमार चतुर्वेदी हैं । यह  संगोष्ठी हिंदी के महत्व को प्रतिपादित कर राष्ट्रभाषा का दर्जा दिलाने के उद्देश्य से किया जा रहा है। 

इस राष्ट्रीय  संगोष्ठी के मुख्य अतिथि रामकिशोर उपाध्याय सेवानिवृत्त आई.आर.ए.एस (भारतीय रेलवे लेखा सेवा होंगे। वर्तमान में युवा उत्कर्ष साहित्यिक मंच दिल्ली के राष्ट्रीय अध्यक्ष होंगे तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता उत्कल सांस्कृतिक विश्वविद्यालय भुवनेश्वर ओडिशा के कुलपति प्रोफेसर डॉक्टर व्योमकेश त्रिपाठी करेंगे। विशिष्ट अतिथि श्री बलदाऊ राम साहू हिंदी साहित्य भारती छत्तीसगढ़ के प्रांतीय अध्यक्ष होंगे । भारतीय संस्कृति और सभ्यता की जननी हिंदी” विषय पर आयोजित राष्ट्रीय संगोष्ठी के मुख्य वक्ता डॉ विजय कुमार शर्मा सहायक  प्राध्यापक भिंड मध्य प्रदेश और वरिष्ठ कहानीकार डॉ०नीरज वर्मा व्याख्याता अंबिकापुर छत्तीसगढ़ होंगे।  

कार्यक्रम में जुड़ने के लिए पंजीयन लिंक https://forms.gle/spdch669SUNQCBhU7 और कार्यक्रम में शामिल होने के लिए गूगल मीट लिंक https://meet.google.com/qtz-rvyi-isu है। पंजीयन लिंक शनिवार रात 12 बजे तक खुला रहेगा। राष्टीय संगोष्ठी के आयोजक मंडल में  हिंदी साहित्य भारती के अजय कुमार चतुर्वेदी सदस्य हिंदी साहित्य भारती छत्तीसगढ़; डॉ0 मोहन लाल साहू मंत्री हिंदी सहित भारती छत्तीसगढ़; रंजीत सारथी अध्यक्ष हिंदी सहित भारती सरगुजा; अर्चना पाठक, महामंत्री होंगे । इस कार्यक्रम से राज्य भर के प्रमुख साहित्यकार जुड़ रहे हैं।